15-Oct-2019 11:09

वैशाली जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन का प्रथम महाधिवेश सह सम्मान समारोह-2019 अपनी भव्यता लिए संपन्न हुआ

वैशाली जिला हिन्दी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ शशि भूषण कुमार ने कहा कि प्रथम महाधिवेश हमारे लिए ऐतिहासिक गौरव का क्षण है, इसे हम साहित्यिक उत्सव के रूप में मना रहे है।आनेवाली पीढ़ी के लिए यह महाधिवेश प्रेरणा का स्रोत बनेगा।

14 अक्टूबर2019( सोमवार) आर एन कॉलेज सभागार,हाजीपुर में वैशाली जिला हिन्दी साहित्य सम्मेलन का प्रथम महाधिवेशन सह सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन पद्मश्री डॉ सी पी ठाकुर द्वारा किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ अनिल सुलभ,अतिविशिष्ट अथिति के रूप में पटना उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश,न्यायमुर्ति श्री राजेन्द्र प्रसाद,विशिष्ट अतिथि के रूप में पूर्व जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री दिनेश कुमार शर्मा, आर एन कॉलेज के प्राचार्य डॉ विभाष कुमार यादव एवं उप महाप्रबंधक,पूर्व मध्य रेल,हाजीपुर श्री दिलीप कुमार मौजूद थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता वैशाली जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ शशि भूषण कुमार एवं संचालन अरुण कुमार निराला ने किया।जबकि स्वागताध्यक्ष श्री राजीव कुमार मेहता थे।

सम्मान समारोह के दौरान साहित्यकार डॉ ब्रह्मदेव प्रसाद कार्यी, डॉ ऋषव चंद्र जैन, श्री हरि नारायण हरि, डॉ शत्रुघ्न राय शशांक, श्री आनंद किशोर शास्त्री, श्री विश्वनाथ सिंह एवं श्री दिलीप कुमार को साहित्य सेवा के लिए विभिन्न सामानों से सम्मानित किया गया। प्रख्यात पत्रकार श्री शैलेंद्र कुमार, श्री सुनील कुमार सिंह, श्री रामनाथ विद्रोही को शब्द शिल्प सम्मान से सम्मानित किया गया। श्री रवि रंजन, श्री अभय कुमार आर्य, श्री कृष्ण नंदन कुमार, श्री जितेंद्र प्रसाद चौधरी, रंजीत कुमार एवं भास्कर हरिवंश को हिन्दी सेवी सम्मान से सम्मानित किया गया।संयुक्त सत्र का धन्यवाद ज्ञापन अखौरी चंद्रशेखर ने किया।

तृतीय सत्र में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन श्री दिनेश कुमार शर्मा, प्रोफ़ेसर ब्रह्मदेव कार्यी, हरि नारायण हरि, आचार्य आनंद किशोर शास्त्री और प्रवीण कुमार मिश्र ने संयुक्त रूप से किया। कवि सम्मेलन का शुभारंभ वाणी वंदना से से हुआ। बिहार के विभिन्न जिलों से आए कवियों ने अपनी-अपनी प्रस्तुति दी जिसमें जहानाबाद से आए युवा कवि अमृतेश मिश्र ने अपनी मुक्तकों के माध्यम से सबका दिल जीत लिया। आरा के अंकित मौर्य ने अपनी गजलों से खूब तालियां बटोरी, अंशुमन आर्यव ने दिनकर को याद करते हुए अपनी रचनाओं का पाठ किया,पटना के रौनक सिंह ने दिनकर की रचित रचना हिमालय का पाठ किया, आचार्य आनंद किशोर शास्त्री ने हिंदी के ऊपर अपनी रचना सुनाकर सबका मन अपनी ओर आकर्षित कर लिया। प्रोफ़ेसर ब्रह्मदेव प्रसाद कार्यी, रेनू शर्मा, वीणा द्विवेदी, बबिता सिंह, प्रतिभा कुमारी पराशर ने अपनी अपनी रचनाओं का पाठ किया। इस सत्र का मंच संचालन मेदनी कुमार मेनन ने किया और धन्यवाद ज्ञापन सुश्री अलका श्री ने किया।

चतुर्थ सत्र में गीत गजल संध्या का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन प्रसिद्ध लोक गायिका नीतू नवगीत, पूर्व जिला एवं सत्र न्यायधीश दिनेश कुमार शर्मा, गोविंद बल्लभ द्वारा संयुक्त रूप से किया गया इसके बाद नीतू नवगीत द्वारा कई गीतों की शानदार प्रस्तुति हुई। गोविंद बल्लभ ने अपनी गजलों के माध्यम से सबको खूब आकर्षित किया। वही गायक कुन्दन कृष्णा ने भी अपने गीतों से समा बांध दिया।श्री दिनेश कुमार शर्मा जी द्वारा गोपाल दास नीरज जी की गजलें और कई गीतों की प्रस्तुति हुई। इस सत्र का मंच संचालन श्री आशुतोष कुमार एवं धन्यवाद ज्ञापन श्रीमती कुमारी आशिकी ने किया । कार्यक्रम में डॉ प्रणय कुमार, दयाशंकर प्रसाद, श्री पुरुषोत्तम कुमार सिंह गुड्डू कुमार गौरव प्रदुमन कुमार गिरी,रूबी कुमारी,रुहि,गुंजा, पिंकी,विजय लक्ष्मी गुप्ता, शुस्मिता सिन्हा, रेणु सिंह, पूजा राय,सुचित्रा, शिवानी,कुमार गौरव,अमित कुमार विश्वास, शबनम खानम, रंजू देवी,पम्मी कुमारी, ममता,बनारस चौधरी, संदीप कुमार प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

15-Oct-2019 11:09

कला मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology