CIN : U22300BR2018PTC037551
Reg No.: 847/PTGPO/2015(BIHAR)

94714-39247 / 79037-16860
23-Oct-2019 02:55

पंच सरपंच संघ के आगे न्याय की बड़ी जिम्मेवारी को बिहार सरकार ने स्वीकारा : आमोद कुमार निराला

बिहार प्रदेश अध्यक्ष अमोद कुमार निराला लंबे समय से पंच-सरपंच संघ के माध्यम से भारतीय संविधान के अनुच्छेद 40 के तहत, तत्कालीन प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के द्वारा 73 वां संशोधन के माध्यम से, जो पंचायती राज व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए अधिकार दिए गए थे, उसकी मांग करते रहे हैं। जिस पर बिहार सरकार पंचायती राज विभाग द्वारा पहली पहली करते हुए पुलिस विभाग के साथ तालमेल कर 3 दिवसीय संयुक्त कार्यशाला का आयोजन किया। बिहार सरकार पंचायती राज विभाग एवं चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के संयुक्त तत्वाधान में पुलिस प्रशासन द्वारा ग्राम कचहरी और उसके निर्वाचित सरपंच, उपसरपंच एवं पंचगणों को नियमानुसार पूर्ण सहयोग, सुविधा, रक्षा, सुरक्षा शत-प्रतिशत उपलब्ध कराने हेतु बिहार के सभी डीएसपी, एसडीपीओ, को कार्यक्रम कर 22 सितंबर, 13 अक्टूबर एवं 20 अक्टूबर को मीठापुर पटना लॉ कॉलेज में तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला रखा गया था।

प्रदेश अध्यक्ष अमोद कुमार निराला ने तीनों दिन अपने संबोधन में पुलिस प्रशासन से पूर्ण सहयोग की अपील की

कार्यशाला चेयरपर्सन पंचायती राज डॉक्टर प्रोफेसर एसपी सिंह के सफल नेतृत्व में संपन्न हुआ। ज्ञात हो कि बिहार प्रदेश पंच-सरपंच संघ द्वारा लगातार की जा रही, ग्राम कचहरी सर्व सुविधा संपन्न बनाने की मांगों के आलोक में पुलिस विषयों में प्रथम फोकस किया गया। उक्त उक्त कार्यक्रम में गरिमा में उपस्थिति अध्यक्षता माननीय न्यायमूर्ति श्रीमती मृदुला मिश्रा, चेयरमैन न्यायमूर्ति एके उपाध्याय उच्च न्यायालय पटना, निदेशक पंचायती राज चंद्रशेखर सिंह, जितेंद्र कुमार, एडीजी पुलिस हेड क्वार्टर, श्री विनय कुमार एडीजी, सीआईडी और आलोक रंजन डीजी ट्रेनिंग, डाॅक्टर प्रिदर्शनी, जज श्री हरिश्चंद्र सिंह, आईजी श्री रतन संजय, मिस नेहा श्री एके अंबेडकर, एडीजी बिहार पूर्व जज प्रशिक्षण वाईपी भगत, चीफ सिक्योरिटी वीएस दुबे बिहार-झारखंड की मुख्य उपस्थिति एवं मार्गदर्शन रहे।

वहीं अंतिम कार्यशाला की अध्यक्षता पूर्व चीफ सेक्रेटरी और वी एन ओ यू पटना सीएस दुबे ने किया तथा संचालन प्रोफेसर डॉ एस पी सिंह चेयर प्रोफेसर पंचायती राज सीएनएलयू ने किया। बिहार के लगभग 200 से अधिक डीएसपी, एसडीपीओ को प्रशिक्षित किया गया तथा कहा गया कि पुलिस इंस्पेक्टर को शिक्षित करें बिहार पंचायती राज अधिनियम का अनुपालन किया जाए। ग्राम कचहरी 40 धाराओं सहित बंगाल भूत अधिनियम पशुपति के दो धारा कुल 40 धाराओं का वाद सीधा ग्राम कचहरी को वापस करें। पंच-परमेश्वर को सहयोग दें तथा सहयोग ले।

आपस में समन्वय स्थापित करें। वही प्रदेश अध्यक्ष ने तीनों दिन अपने संबोधन में पुलिस प्रशासन से पूर्ण सहयोग की अपील की। जिसे स्वीकारा भी गया, अब आशा है कि पुलिस ग्राम कचहरी को सहयोग निश्चित रूप से करेगी। इस कार्यक्रम के आयोजन संचालन मार्गदर्शन और प्रशिक्षण हेतु माननीय उच्च न्यायालय पंचायती राज विभाग इंवर्सिटी सहित पुलिस मुख्यालय डीजीपी का आभार व्यक्त किया तथा धन्यवाद दिया।

23-Oct-2019 02:55

कानून मुख्य खबरें

Copy Right 2019-2024 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology