20-Oct-2019 10:03

मोदी व योगी सरकार फिर भी घोषणाएं करके सनातन धर्म के स्वयंसेवक की हत्या और सर कलम करने की धमकी

रमेश कुमार चौबे, महासचिव, नागरिक अधिकार मंच

केंद्र में मोदी सरकार और उत्तरप्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार फिर भी घोषणाएं करके सनातन धर्म के स्वयंसेवक की हत्या और सर कलम करने की धमकी दी गई l अब जबकि कमलेश तिवारी की निर्मम हत्या भी लखनऊ में कट्टरपंथी गुटों द्वारा कर दी गई है और तथाकथित हिन्दू हितचिंतक राजनीतिक दल जिसकी सरकार केंद्र और राज्य दोनों में है आखिर क्या कर रही है ? मोहन भागवत अब तक क्यों चुप हैं ? मोदी और योगी ने अब तक ट्वीट कर भी शोकसंवेदन व्यक्त नहीं किया है और देश की न्यायायिक प्रणाली के न्यायाधीश और न्याय रक्षक अधिवक्ता लोग भी खामोश हो गए हैं l ये देश हिंदुत्व के भावनाओं को भड़काकर गाय गेरू मंदिर के नाम पर प्रचंड बहुमत पाकर आखिर क्यों चुप है ?

देश के सिस्टम को खुली चुनौती देने वाले लोगों को अब तक नहीं पकड़ा गया है और हिंदुत्व के भावनाओं को भड़काकर वोट की रोटी सेंकने के लिए तथाकथित हिंदूवादी संगठनों के नेता खाली लाश पर राजनीति कर रहे हैं l भावनाओं को भड़काकर वोट बैंक तैयार करने वाले लोगों को कमलेश तिवारी जैसे भावनात्मक हिन्दू की दरकार तब तक रहता है जबतक वो तथाकथित हिंदुत्ववादी के लिए ऊर्जावान स्त्रोत है l उनका दुधारू गाय है l लेकिन जैसे ही वह दूध देना बंद कर देता है बहिला हो जाता है तो उसकी पूछ खत्म हो जाती है और जब कोई उसकी हत्या कर देता है तो फिर वोट बैंक बनाने के लिए लाश पर वोट की राजनीति होती है l यह देश आज संवेदनहीन होता जा रहा है l चिंतन शून्य होता जा रहा है l विवेकहीन होता जा रहा है l भौतिकवादी होता जा रहा है l अध्यात्म का प्रभाव खत्म कर उग्रता की ओर मोड़ने का राजनीतिक षड्यंत्र रचा जा रहा है और देश की आम जनता इसमें पीस रही है l सनातन संस्कृति के तन मन का चीरहरण करने के लिए उत्तरदायी तथाकथित राष्ट्रवादी शक्तियां और तथाकथित हिंदुत्ववादी शक्तियां दोषी हैं l लेकिन इस बात को कोई नहीं समझ रहा है जो कि भारत के लिए दुर्भाग्य है l तथाकथित राष्ट्रवाद की चासनी में तथाकथित हिंदुत्ववाद का रसगुल्ला मिलाकर भावनाओं का रसमलाई तैयार कर पागलपंथी हिंदुत्व संगठन गिरोह बनाकर उसका सरगना राजनीतिक चालबाज शातिरों के हांथो थम्हां दिया जाता है और फिर षड्यंत्रकारी राजनीतिक नेतृत्व का फॉलोअर बना दिया जाता है l

मोदी सरकार और योगी सरकार आने के बाद हिंदुत्व कितना सुरक्षित असुरक्षित महसूस कर रहा है यह सबको चिंतन मनन मंथन करने की जरूरत है l लगातार इस तरह की हत्याएं हो रही है लेकिन वोट बैंक से इतर कुछ गंभीरता से सोंचा नहीं जा रहा है सत्ता के मठाधीशों द्वारा l मुस्लिम या हिन्दू कट्टरपंथी या फिर कोई अन्य धार्मिक कट्टरपंथी को जड़मूल से समाप्त करने के लिए शासन और सत्ता कभी कारगर उपाय नहीं कर सकते l क्योंकि पर्दे के पीछे यहीं शासन सत्ता वैसे तत्वों को रशत सामग्री पहुंचाते हैं l क्योंक ऐसे ही तत्व राजनीतिक दलों के लिए ऊर्जावान स्रोत और वोट बैंक मशीन होते हैं l

समाज को जानबूझकर कमजोर किया गया है कि समाज सत्ता और शासन की निरंकुशता पर अंकुश नहीं लगा सके l राजनीतिक षड्यंत्र के तहत यह सब हुआ है l पहले की तरह अब राजनीति समाज सेवा नहीं बल्कि अब विशुद्ध प्रोफेशनल वेस्यवृति की प्रवृति हो गया है और राजनीतिक दल उस प्रोफेशनल समूह के संगठन बन गए हैं l मेरी सच्चाई युक्त बातें कड़वी सच्चाई के कारण राजनीतिक अंधभक्तों को मिर्ची जैसी लगती है लेकिन एक सामाजिक चिंतक के नाते समाजहित में अंतिम सांस तक लिखूंगा l सिस्टम को कोढ़ बनाने में राजनीतिक योगदान बहुत है या यूं कहें तो कोई अतिसंयोक्ति नहीं होगी कि राजनीति ने ही सिस्टम को कोढ़ बना दिया और अब तो कैंसर ग्रस्त भी बना दिया है l लोकतंत्र की मालिक अपने आप को तालिमार की पोजिशन में ला दिया है और सबकुछ अपने सामने लोकतंत्र और लोकतांत्रिक मूल्यों का चीरहरण मौन धारण कर देख रही है जो कि लोकतंत्र का दुर्भाग्य है l जनहित समाजहित में जारी l

20-Oct-2019 10:03

कानून मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology