23-Sep-2019 07:05

2019 के 'दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार' के लिए सिंहवाहिनी पंचायत चुनी गई

मेटिक कैटेगरी में 'कम्युनिटी बेस्ड आर्गेनाइजेशन/इंडिविजुअल्स टेङ्क्षकग वॉलंटेरी एक्शन' को ध्यान में रखते इस राष्ट्रीय सम्मान के लिए चुना गया है

बिहार के सीतामढ़ी सोनबरसा प्रखंड की सिंहवाहिनी पंचायत को भारत सरकार के पंचायती राज विभाग ने वर्ष 2019 के 'दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार' के लिए चुना है। बिहार की दो अन्य पंचायतें भी इस पुरस्कार के लिए चुनी गई हैं। इसमें जहानाबाद जिले के मखदुमपुर प्रखंड की धरनई व नालंदा जिले के नगरनौसा प्रखंड की दामोदरपुर बलधा पंचायत शामिल हैं। पंचायती राज विभाग के संयुक्त सचिव डॉ. संजीव पटजोशी ने इस बाबत मुख्य सचिव को पत्र भेजा है। ज्ञात हो कि हाल ही में सिंहवाहिनी की मुखिया रितु जायसवाल को अंतरराष्ट्रीय सम्मान 'फ्लेम लीडरशिप अवार्ड 2019' से सम्मानित किया गया था।

पंचायत में चलाए जा रहे कार्य बने आधार, सिंहवाहिनी को वहां की चर्चित मुखिया रितु जायसवाल के कुशल नेतृत्व के चलते थी मेटिक कैटेगरी में 'कम्युनिटी बेस्ड आर्गेनाइजेशन/इंडिविजुअल्स टेङ्क्षकग वॉलंटेरी एक्शन' को ध्यान में रखते इस राष्ट्रीय सम्मान के लिए चुना गया है। सिंहवाहिनी ने सरकारी योजनाओं से अलग आपसी तालमेल और संघर्ष से कई कीर्तिमान रचे हैं। खुले में शौच मुक्त अभियान को लेकर जागरूकता, बॉयो गैस प्लांट निर्माण, बाढ़ में युवाओं की टीम द्वारा मुखिया के नेतृत्व में की गई सेवा, बाल विवाह रोकने के लिए सिलाई सेंटर की स्थापना, सैनिटरी पैड बैंक की स्थापना, घरेलू हिंसा रोकने के लिए ग्रामीण स्तर पर कमेटी, विधवाओं को उनका अधिकार दिलाने, आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चों के लिए आउट ऑफ स्कूल सपोर्ट क्लास चलाने, सामूहिक प्रयास से अतिक्रमण मुक्त कराकर मुख्य सड़क का निर्माण कराने और मिथिला की परंपरा बनाए रखने की दिशा में कार्य करने आदि के लिए पंचायत का चयन किया गया है।

तीन स्तरों पर कार्यों की समीक्षा, इस पुरस्कार के लिए पंचायत में कराए गए कार्यों की समीक्षा तीन स्तरों पर हुई थी। पहले प्रखंड स्तरीय कमेटी, फिर जिला स्तरीय और बाद में राज्य स्तरीय कमेटी ने जांच की थी। राज्य सरकार ने बिहार से कुछ पंचायतों का चयन कर केंद्र सरकार को रिपोर्ट भेजी थी। केंद्रीय कमेटी ने अंतिम रूप से बिहार की तीन पंचायतों का चयन किया।

मुखिया ने जताई प्रसन्नता, मुखिया रितु जायसवाल ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि यह सम्मान सिंहवाहिनी की आम जनता को समर्पित करती हूं, जिन्होंने सत्य और न्याय की लड़ाई में हमेशा साथ दिया।बताते चलेंं कि भारत सरकार का पंचायती राज मंत्रालय प्रत्येक वर्ष 24 अप्रैल को पंचायती राज दिवस पर दिल्ली में भव्य समारोह का आयोजन करता है। इसमें प्रधानमंत्री खुद चयनित मुखिया को सम्मानित करते हैं। इस साल आम चुनाव के कारण इसकी घोषणा देरी से हुई है।

23-Sep-2019 07:05

गांव मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology