16-Jan-2020 10:53

एक निवेदन है - "पल्स पोलियो- दो बूंद जिंदगी की"

पल्स पोलियो रविवार, "सावधानी हटी-दुर्घटना घटी" "19 जनवरी 2020 रविवार" को अपने नजदीकी बूथ पर जाकर अपने छोटे बच्चों को पोलियो की दवा अवश्य पिलाएं !

किसी ने सच कहा है कि "जिस चीज को हम पा लेते हैं वह हमें आसान सी लगने लगती है" ऐसा ही कुछ पोलियो के बारे में कहा जा सकता है एक समय था जब पोलियो एक भयंकर बीमारी के रूप में हमारे देश में फैला था हर और इस बीमारी से निपटने के तरीकों को खोजा जा रहा था फिर हमने पोलियो से निपटने के लिए एक वैक्सीन तैयार की उसके बाद एक चुनौती हमारे सामने आई कि इसे हर 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों तक कैसे पहुंचाएं इसके लिए हमने कहीं जागरूकता कार्यक्रम चलाएं और हमने जल्द ही पोलियो पर विजय पा ली।

हम निश्चिंत हो गए की पोलियो हमारे देश से चला गया लेकिन हम एक बात भूल गए कि पोलियो पूरी दुनिया से नहीं गया है आज भी पाकिस्तान अफगानिस्तान, नाइजीरिया जैसे देशों में पोलियो वायरस पाया गया है और ये हमारे पड़ोसी देश है इसलिए हम निश्चिंत नहीं हो सकते हैं कि पोलियो वापस लौट कर नहीं आ सकता और इस वायरस को फैलने में ज्यादा समय नहीं लगता है

"सावधानी हटी-दुर्घटना घटी" इतना ही कहना चाहूंगा कि हमें प्रत्येक 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के लिए आज भी उतना ही जागरूक रहना चाहिए जितना कि शुरुआत में थे तभी हमारा देश पोलियो मुक्त सदा सदा के लिए रह सकेगा!

"19 जनवरी 2020 रविवार" को अपने नजदीकी बूथ पर जाकर अपने छोटे बच्चों को पोलियो की दवा अवश्य पिलाएं !

16-Jan-2020 10:53

चिकित्सा मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology