29-Sep-2019 08:53

दलित एवं महा दलितों की दशा एवं दिशा विषय पर एक दिवसीय संवाद

बिहार सरकार ने पंचायती राज में आरक्षण दिए हैं, गांव में सम्मान बड़ा है वही दलित सम्मान के साथ शैक्षणिक , आर्थिक , सामाजिक एवं राजनीतिक रूप में समान भागीदार बन रहे है

दिनांक 28 सितंबर 2019 को Hotel Amalfi Grand Patna ke sabhagar में दीपज्योति कल्याण संस्थान द्वारा आयोजित एवं मध्यांचल फोरम के सहयोग से दलित एवं महा दलितों की दशा एवं दिशा विषय पर एक दिवसीय संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया ! जिसका उद्घाटन सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के माननीय मंत्री श्री नीरज कुमार ने दीप प्रज्वलित कर किया ! कार्यक्रम की अध्यक्षता मध्यांचल फोरम नई दिल्ली से आए संतोष सामल ने किया । इस अवसर पर माननीय मंत्री बिहार सरकार श्री नीरज कुमार ने कहा कि हर व्यक्ति को समानता का अधिकार है , सरकार दलित व महादलितो के विकास के प्रति संकल्पित है । बिहार की सरकार दलितों के विकास के लिए देश में अग्रणी रूप से कार्य कर रही है , दलित प्रतिनिधियों को भी सरकार की योजनाओं के प्रति सजग रहने की जरूरत है । उन्होंने जोर देते हुए कहा कि बिहार के माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी दलित के विकास के लिए हर कार्य कर रहे हैं , उन्हें किसी प्रकार का सुझाव संस्था की ओर से मिलती है तो निश्चित तौर पर सरकार सभी तरह के फैसले लेगी ।

संस्था के कार्यो की सराहना करते हुए उन्होंने आगे कहा कि जन्म के आधार पर बुद्धि नहीं होता है वातावरण पर बुद्धि होती है । बिहार सरकार ने पंचायती राज में आरक्षण दिए हैं गांव में सम्मान बड़ा है वही दलित सम्मान के साथ शैक्षणिक , आर्थिक , सामाजिक एवं राजनीतिक रूप में समान भागीदार बन रहे है सरकार उन्हें हर स्थानों पर उनकी समुचित भागीदारी सुनिश्चित कर रही है ! राज्य सरकार उन्हें बराबरी में लाना चाहती है । इसमें उपस्थित जनसमूह से उन्होंने आगे बढ़कर सहयोग करने की अपील भी की , इसके लिए मुख्यमंत्री की भी सराहना मंत्री ने की ।

मध्यांचल फोरम के संतोष सामल ने कहा कि आज भी दलित समुदाय हाशिए पर है उन्हें जानकारी के अभाव एवं सरकार के पदाधिकारियों की उदासीनता के रवैए के कारण बहुत सी चल रही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है , हमें इसके लिए संगठित होकर सरकार के साथ बातचीत कर अधिक से अधिक योजनाओं का लाभ दिला कर हम उन्हें समानता में ला सकते है ,हम जिला एवं प्रखंड का एक , गांव में शुरुआती दौर में दलित समाज के साथ-साथ उनके बच्चों के विद्यालय भेजने के लिए प्रेरित करना होगा हमे संकल्प ले की दलितों के बच्चे विद्यालय में जाएं । फोरम एक गांव एक पंचायत एक प्रखंड को रोल मॉडल बनाकर कार्य करेगे । श्री पंकज श्वेताभ एक्शन एड के कार्यक्रम प्रबंधक ने जमीन की समस्याओं की बातों को रेखांकित करते हुए अपनी बात रखें ।

वहीं दीप ज्योति कल्याण संस्थान के सचिव सुबोध कुमार रविदास ने कहा कि संस्था के माध्यम से बिहार राज्य के 5 जिलों नालंदा , नवादा , गया , जहानाबाद एवं शेखपुरा में 1158 दलित परिवारों का बेसलाइन सर्वे कर उन्हें शैक्षणिक , आर्थिक , राजनीतिक एवं सामाजिक रूप से जानने का प्रयास किया गया , जिसमें आज राज्य स्तर पर एक संवाद का आयोजन कर जो सर्वे में समस्या उभर कर आया है उन्हें समाधान करने का प्रयास सरकार के मंत्री गण एवं पदाधिकारी गण के माध्यम से किया जा रहा है । इस अवसर पर बिहार विकलांग अधिकार मंच के राज्य सचिव श्री राकेश कुमार , प्रो0 मिथिलेश कुमार , कासा से फूलमनी सोरेन तथा असंगठित क्षेत्र कामगार संगठन ( बिहार ) के महासचिव श्री अजय कुमार आदि ने अपना-अपना विचार रखा ! मंच संचालन बाल किशोर छटर ने किया।

29-Sep-2019 08:53

छात्र_छात्रा मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology