04-Jun-2018 08:59

छात्र जदयू के प्रदेश महासचिव की हत्या

-आखिर क्यों नहीं पहुंचे बड़े नेता -जदयू के एक विधायक पर आरोपी को बचाने का आरोप

बिहारशरीफ। आखिरकार आशंकाओं की पुष्टि हो गयी। छात्र जदयू के प्रदेश महासचिव राकेश कुमार का क्षतविक्षत शव वेना थाना क्षेत्र के अलीनगर गांव के खंधे में मिला है। जमीन में शव को गाड़ा गया था। राकेश हरनौत के खरुआरा गांव के रहने वाले थे। 29 मई से वे गायब थे। परिजन ने इस मामले में अपहरण कर हत्या की आशंका जताते हुए तीन के विरुद्ध एफआईआर करायी थी।

राकेश जदयू से पिछले चार साल से जुड़े थे। डेढ़ साल पहले वे छात्र जदयू के प्रदेश महासचिव बनाये गये थे। शनिवार को हरनौत के डिहरा गांव में एफएसएल व डॉग स्क्वॉयड की टीम मामले की छानबीन करने पहुंची थी।हरनौत थाना क्षेत्र के डीहरा गांव निवासी दीपक कुमार के घर में राकेश को आखिरी बार देखा गया था।शव का पोस्टमार्टम करा दिया गया है।

मामला में कई पेंच है। पोस्टमार्टम में जदयू का कोई बड़ा नेता नहीं पहुंचा। आरोपी के बचाव में विधायक का नाम आ रहा है। ससुर अविनाश प्रसाद से साफ तौर पर कहा कि विधायक के कहने पर पुलिस ने आरोपी को थाने से छोड़ दिया।आरोपी का भाई प्रखण्ड जदयू का प्रवक्ता भी है।

आखिर दीपक के घर के एक कमरे को अचानक पेंट कराने की आवश्यकता क्यों पड़ी। सूत्रों की माने तो हत्या का एक कारण अफेयर भी है।एक तरफ प्रदेश महासचिव की हत्या होती है और दूसरी तरफ जदयू की बैठक जारी रहती है।सबसे बड़ी विडंबना इस बात की है कि प्रदेश महासचिव के शव को ढोने के लिए एम्बुलेंस तक नहीं मिला, ट्रैक्टर से ही लाश को लाया व ले जाया गया।

04-Jun-2018 08:59

जुर्म मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology