22-Sep-2019 02:58

ट्रिपल तलाक के दुरूपयोग का मामला आया सामने

सीएचआरसिसी चेयरमैन चोधरी देविंदर सिंह ने कहा कि ट्रिपल तलाक के प्रति भारत सरकार बहुत सजग हैं जिसमे सरकार ने मुस्लिम महिला के सशक्तिकरण के लिए कानून बनाया

मुस्लिम महिलाओं के हितों को कानूनी संरक्षण प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा तैयार मुस्लिम महिला (विवाह पर अधिकारों का संरक्षण) विधेयक, 2019, के दुरूपयोग के मामले सामने आने लगे हैं। चंडीगढ़ निवासी नाज़िम आलम कि पत्नी नूरजहाँ ने अपने पति पर फ़ोन द्वारा ट्रिपल तलाक का मामला किशंगंज़ थाना, बिहार में दर्ज़ करवाया। जो कि मूल रूप से बिहार के ही रहने वाले हैं। पुलिस ने मामला दर्ज़ करते हुए पति नाज़िम आलम को गिरफ्तार कर हिरासत में लिया। जबकि इस मामले में आरोपी बनाये गए नाज़िम आलम के परिवार वालो का कहना हैं कि यह सब पहले से नूरजहाँ कि रची रचाई साजिश हैं जिसमे नाज़िम आलम को फसाया गया हैं। आरोपी बनाये गए नाज़िम के गाँव के रहने वाले जितेंदर की पत्नी नाजमीन ने मामले को विस्तार से बताया कि गत दिन मैं और नूर जहाँ एक साथ ट्रेन से किशनगंज गयें।

किशनगंज पहुँच कर नूरजहाँ ने मुझसे कहा कि मेरे बच्चों को देखना में अभी थोड़ी देर में आती हूँ, मुझे थोड़ा काम हैं। नूरजहाँ अपनी बड़ी बेटी को लेकर वहां से चली गयीं। जब काफ़ी देर इंतजार करने पर नूरजहाँ नहीं आई तो मेने उसे फ़ोन कर पुछा तो नूरजहाँ ने कहा में एसपी ऑफिस में हूँ साहब में मिलकर आती हूँ काफ़ी देर लग रहीं हैं तुम सभी भी यहीं आ जाओं। जब मैं एसपी ऑफिस किसानगंज पहुंची तो सारा मामला समझ में आया। कि नूरजहाँ अपने पति नाज़िम आलम कि शिकायत करने किशनगंज आई थीं। समय ज्यादा लगते देख नूरजहाँ हम सबकों महिला थाना ले गयीं। इस दौरान नूरजहाँ बार बार किसी से फ़ोन पर बात कर रहीं थीं। जब पुलिस ने नूरजहाँ से कहा कि मामले में गवाह चाहिए तो, नूरजहाँ ने मुझे विनती करते हुए कहा कि तुम मेरी मदद करों और तुम कहों कि जब नाज़िम का फ़ोन आया था तो तुम मेरे साथ थीं। मैने नूरजहाँ को स्पष्ट मना करते हुए कहा कि ये झूठ में नहीं कह सकती।

जिसके बाद नूरजहाँ ने अपनी बड़ी बेटी को अपनी कसम देते हुए उसको गवाह बनाया। यह सारा वाक्य मेरी आँखों से सामने हुआ हैं। वहीँ नाज़िम के भाई मोहम्मद मुजाहिर आलम का कहना हैं कि नाज़िम की अपनी बेकरी कि दुकान हैं चंडीगढ़ में, जिसका सारा लेनदेन नूरजहाँ ही देखती थीं। नूरजहाँ तंग करने के उदेश्य से यह सब कुछ करवा रहीं हैं। क्योंकि नाज़िम, नूरल नाम के लड़के को बेकरी के काम से हटाना चाहता था, परन्तु नूरजहाँ इसका विरोध करती थी। वही परिवार के सदस्य मोहमद मुजाहिर आलम और मोहमद काडी का कहना हैं कि नूरजहाँ दिन प्रतिदिन घर आकार आकर जो परिवार का सदस्य मिलता है उसे धमकिया देती हैं कि एक एक करके तुम सभी को जेल भेजूंगी। वह धमकाने के नए नए तरीके इख्तियार करती है जिसकी एक रिकार्डिंग भी है।

मामले कि शिकायत मुख्यमंत्री बिहार, कानून मंत्री बिहार सरकार, मुख्य न्यायधीश उच्च न्यायलय बिहार,सांसद अस्सुदीन ओबेसी, चंडीगढ़ सांसद श्रीमती किरण खेर, डीजीपी बिहार पुलिस, डीजीपी चंडीगढ़ पुलिस, एसएसपी चंडीगढ़ पुलिस, एसपी किशनगंज, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग, बिहार मानवाधिकार आयोग, को ईमेल के द्वारा की गयीं हैं। संगठन के वकील प्रभजोत ने मामले को विस्तार से बताते हुए कहाँ कि हमारे पास यह मामला मेल द्वारा आया और इस मामले को जानने के लिए हमने गवाह नाजमीन से संगठन की राष्ट्रिय कार्यकारिणी सदस्या श्रीमती नीरजा आर्य के मद्ध्यम संपर्क क्यूंकि यह मामला महिला से सम्बंधित है, जिसमें यह पता चला कि नाजमीन इस मामले कि मुख्या गवाह हैं, जिसकी पुष्टि के लिए नाजमीन ने बताया की जब वाकया हुआ तो वह थाने और एसपी ऑफिस गई और उसकी उपस्थिति वहां पर लगे सीसीटीवी कैमरे से की जा सकती है। नाजमीन के अनुसार यह पूरा प्रकरण सुनोयोजित साजिश के तहत रचा गया हैं। नाजमीन के सामने ही नाजिम आलम को गिरफ्तार किया गया जबकि वह अपने बच्चों से मिलने आया था और पुलिस को बार बार यही कह रहा था की मैंने कभी तलाक नहीं दिया। जिसकी योजना पहले से ही नूरजहाँ करके चल रही थी। इस पर सीएचआरसिसी चेयरमैन चोधरी देविंदर सिंह ने कहा कि ट्रिपल तलाक के प्रति भारत सरकार बहुत सजग हैं जिसमे सरकार ने मुस्लिम महिला के सशक्तिकरण के लिए कानून बनाया जबकि अब इस कानून के दुरूपयोग के मामले भी सामने आने लगे हैं जिस के लिए सरकार को संशोधन कि आवश्यकता हैं।

22-Sep-2019 02:58

जुर्म मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology