05-Jun-2018 10:14

नशे में अधिकारी और आम जनजीवन को जेल और मौत की धमकी

अनशनकारियों पर पुलिस, कोर्ट, जेल और अपराधियों द्वारा घटना कराने की धमकी देते जिला प्रशासन के पदाधिकारी। जबर्दस्ती अनशनकारियों पर दबाव और अनशन ना खत्म करने पर बड़ी घटनाओं को अंजाम देने की धमकी।

वैशाली जिला प्रशासन ने अपने कार्यशैली को छुपाने के लिए आम जनता पर करती हैं अत्याचार। लोगों को तरह तरह के धमकी देने से भी नहीं कतराते पदाधिकारी। मिली जानकारी के अनुसार अफजलपुर धोबघट्टी पंचायत में चल रही चार दिनों से अमरण अनशन को लेकर जिला प्रशासन में हड़कंप मची हैं। इस जगह चल रहे अनशन पर तीन दिन में कोई सूध लेने नहीं गया, लेकिन सोमवार की देर रात लगभग 2-3 बजे रात को M.O. हाजीपुर के नेतृत्व में चार पाँच गाड़ियों से कई दर्ज पदाधिकारी और पुलिस दलों के सहयोग से अनशनकारियों को जबर्दस्ती उठाने आये थें। ग्रामीणों ने बताया कि M.O. हाजीपुर फूल नशे में थें। हद से ज्यादा नशे में थें एवं उनके साथ आये कुछ और पदाधिकारी भी नशे में थे। M.O. हाजीपुर ने बताया कि किसी भी हाल में अनशनकारियों को ले जाना है जिसके लिए पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी का दबाव हैं। जिसके लिए पुलिस की बड़ी टुकड़ी दिया गया है और हाँस्पिटल से ऐम्बुलेंस भी साथ लाया गया था। लेकिन ग्रामीणों की सक्रियता से पदाधिकारी सफल नहीं हो पायें। लेकिन विभिन्न विभिन्न पदाधिकारीयों ने लोगों को डराने एवं झूठें मुकदमों में फँसाने की खुब धमकी दी। धरना पर बैठे प्रकाश ने बताया कि अधिकारी आज तक कोई बात के लिए नहीं आये, लेकिन धमकी एवं अन्य माध्यमों से झूठें मुकदमों में फँसाने की खुब धमकी मिल रही हैं। कोई भी धरना का कारण नहीं जानना चाहता सिर्फ धरना प्रदर्शन खत्म हो यहीं बातें करते हैं।

वहीं ग्रामीणों ने बताया कि अफजलपुर धोबघट्टी पंचायत में विकास के नाम पर सिर्फ ठग्गी होती रही हैं। पंचायत पिछले दो बार आरक्षित श्रेणी में पंचायत चुनाव हुआ और दलितों के मसीहा कहे जाने वाले सांसद रामविलास पासवान ने खुब शोषण किया। उनके दल के मुखिया इस पंचायत में रहें और अत्यधिक साधारण परिवार से मुखिया रहते विकसित परिवार बन गया। इंदिरा आवास योजना, वृद्धा पेंशन, मनरेगा योजना, विकलांग पेंशन, विधवाओं तक के पेंशन में कमीशनखोरी हुई। लेकिन सभी जनता की आवाज़ दबा दी गई। मुखिया ने भी झूठें मुकदमों का खुब खेल किया और निर्दोषों को SC/ST मुकदमों में खुब फँसाया। इंदिरा आवास योजना के तहत आज तक 5-10% भी घरों का निर्माण नहीं किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार 2011-12 से ही इंदिरा आवास योजना के द्वितीय किस्त तक बाकी हैं, जबकि नाम बदकर अब प्रधानमंत्री आवास योजना 2017-18 चल रहा है और अब 2018-19 योजना भी लाईन में हैं। लेकिन किसी भी प्रकार से योजनाओं में ना तो हाजीपुर सांसद रामविलास पासवान को दिलचस्पी हैं और ना ही ठेके पर चल रहे विधायक हाजीपुर अवधेश कुमार का।

अफजलपुर धोबघट्टी पंचायत में लगभग सड़के चलने लायक भी नहीं है। लगातार संघर्ष करते लोग और दलालों के माध्यम से उनकी आवाज़ को कुचलते जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों की टीम। दर्जनों लोगों ने आवेदन निवर्तमान जिलाधिकारी विनोद सिंह गुंजियाल, रचना पाटिल आदि को दिया, लेकिन ये दोनों पदाधिकारी के कानों पर जू तक नहीं रेंगा। हालात बहुत ही बत्तर होते हुए भी ना मुखिया को चिंता है और ना ही प्रखंड स्तरीय प्रखंड विकास पदाधिकारी और अन्य पदाधिकारी को। ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत के लिए जिम्मेदार व्यक्ति कोई नहीं है, शराब और जुआ खेलने के भी काम सदर थाना के सहयोग से चलता हैं। नशे में युवाओं को धकेला जा रहा है तो बेरोजगारी से युवा वर्ग एकदम तरसत हैं। वहीं अपराधियों के हाथ में जा चुकी वैशाली, अब पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन से दूर नजर आ रही हैं। अपराध को घोटालों में अव्वल स्थान प्राप्त करने की ओर बढ़ रही हैं। एक सही नेतृत्व की तलाश में आज भी वैशाली अपने वजूद को तलाश रही हैं। लोकतंत्र की धरती लोकतंत्र की गरिमा तलाश रही हैं और अपने अस्तित्व को निहार रही हैं। धरना कर रहे प्रकाश के तीन चार साथियों की स्थिति बहुत ही नाजुक बनी हुई हैं।

बहुत ही खास बातें कि युवा जनशक्ति ने सड़क निर्माण के लिए शुरू किया अनिश्चितकालीन आमरण अनशन। पिछले चार दिनों में युवा जनशक्ति के कार्यकर्ताओं द्वारा हाजीपुर के अफजलपुर धोबघट्टी-पोखरैरा- वासुदेवपुर-चपुता सड़क निर्माण के लिए धोबघट्टी मध्य विद्यालय के समीप अनिश्चितकालीन आमरण अनशन शुरू किया गया। आमरण अनशन पर युवा जनशक्ति के राष्ट्रीय अध्यक्ष धीरज राय, प्रकाश कुमार सिंह, युवा जनशक्ति के जिला उपाध्यक्ष चन्दन यादव(लकी) बैठे हुए है ।स्थानीय ग्रामीण एवं युवा जनशक्ति के अन्य कार्यकर्ता लगातार समर्थन हेतु बैठे हुए है । युवा जनशक्ति के राष्ट्रीय अध्यक्ष धीरज राय ने कहा कि युवा जनशक्ति द्वारा उक्त सड़क के निर्माण हेतु पिछले 8 महीने से लगातार चरणबद्ध रूप से आंदोलन किया जा रहा है । उक्त सड़क की हालत इतनी जर्जर है कि कभी भी कोई बड़ी घटना घट सकती है ।लगभग पंद्रह हजार की आबादी इस पंचायत की रोजाना इसी सड़क से आवगमन करती है ।लेकिन इतनी महत्वपूर्ण सड़क के निर्माण हेतु लगातार आंदोलन के बावजूद स्थानीय विधायक अवधेश सिंह,स्थानीय सांसद रामविलास पासवान के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी । स्थानीय जिला प्रशासन से भी इस सड़क के निर्माण को लेकर कई दफा गुहार लगाई गई,आवेदन दी गयी । लेकिन अब तक कोई कारवाई नहीं कि गयी ।इसलिए इस निकम्मी व्यवस्था को जगाने के लिए आमरण अनशन शुरू किया गया है । धीरज राय ने कहा कि जब तक सड़क निर्माण को लेकर पहल नहीं कि जाएगी ,तब तक अनशन जारी रहेगी । अनशन पर बैठे स्थानीय ग्रामीण प्रकाश सिंह, जिला उपाध्यक्ष चन्दन यादव(लकी) ने कहा कि हाजीपुर विधायक अवधेश सिंह , सांसद दोनों मिलकर इस पंचायत के लोगों को छलने का काम किये । क्षेत्र के विकास के नाम पर सिर्फ ठगे है । अनशन स्थल पर उपस्थित लोगों में विजय तिवारी, युवा जनशक्ति जिलाध्यक्ष रंजन पटेल, तारकेश्वर पटेल, राजा सिंह, आदिल अनवर, राहुल राय, अंकित सिंह, मनीष सिंह, शशि सिंह राजपूत, बलजीत सिंह,अमित कुमार,पुष्कर कुमार, अमित पांडे, सोनू तिवारी, आतिश सिंह, नीतीश तिवारी , पिंटू पटेल, ऋतु राज, आकाश, मनोज आदि मौजूद थे ।

05-Jun-2018 10:14

जुर्म मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology