04-Oct-2019 08:51

नीतीश और मोदी को जबतक जेल नहीं भेजा जाता है तब तक नागरिक अधिकार मंच चुप नहीं बैठेगा

देश विदेश के मीडिया कर्मियों को बिहार की बर्बादी का जीवंत तस्वीर प्रस्तुत कर बिहार की वास्तविक स्थिति से अवगत कराने का मुहिम जारी रखेगा l

नीतीश कुमार का दोहरा चरित्र है जिसका पारदर्षिता के साथ प्रामाणिक खुलासा किया जायेगा l विकास पुरूष नहीं बल्कि विनास पुरुष के राजनैतिक कैरियर को बिहार की जनता लालू प्रसाद यादव के राजनैतिक कैरियर की तरह दफना देगी l बिहार की जनता से अपील करते हैं कि नीतीश कुमार अपनी राजनैतिक वजूद को टिमटिमाता देखकर बिहार में जातीय समीकरण कार्ड खेल सकते हैं और अगड़ा पिछड़ा दलित महादलित अतिपिछड़ा कार्ड खेल कर सामाजिक वैमनस्य का माहौल क्रिएट कर सकते हैं l इसलिए सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय सोच रखने वाले लोगों से विनम्र अपील है कि नीतीश कुमार के झांसे में कोई नहीं आये l जो अपने जीवन में अपने परिवार में अपनी पत्नी के साथ निर्विवाद सुखमय जीवन व्यतीत करने में विफल रहा l जो अपने एक मात्र पुत्र को मानसिक तनाव में रखकर उसे मानसिक रूप से पंगु बना दिया वो बिहार की जनता के साथ न्याय क्या खाक करेगा ?

नीतीश कुमार का वैवाहिक जीवन विवादास्पद कटुतापूर्ण रहा है जिसपर मीडिया को शोध कर सच्चाई उजागर करने की आवश्यकता है l नीतीश कुमार के बेटे की मानसिक स्थिति के लिए कौन जिम्मेवार है इसकी सच्चाई बिहार की जनता के समक्ष आनी चाहिए l एक ही जिला के विकास के लिए इनके शासनकाल में नालंदा में गए पैसे पर श्वेतपत्र जारी होने चाहिए l जिलावार निर्गत पैसे का डेटा वेश श्वेतपत्र जारी होना चाहिए l नालंदा जिला के लोगों को बिहार सरकार की नौकरियों में नाजायज कब्जाधारी बनाने के पूरे आंतरिक खेल का पटाक्षेप होना चाहिए ताकि बिहार के सभी बेरोजगार युवाओं को पूरी सच्चाई समझ में आवे कि नीतीश कुमार ने कैसा गेम प्लान के तहत बिहार के शेष बेरोजगार युवाओं के साथ कैसे प्रतिभा हनन का खेल खेला है l आरसीपी सिन्हा और ललन सिंह की चल अचल संपत्ति की जांच होनी चाहिए और इन दोनों के नजदीकी रिश्तेदार के प्रोपर्टी की जाँच होनी चाहिए l

नीतीश कुमार के रेलवे स्लीपर घोटाला डोंगरे परिवार आत्महत्या कांड की सच्चाई सामने आनी चाहिए l नीतीश कुमार के शासनकाल के सभी बड़े कंस्ट्रक्शन कंपनी के सीईओ का नार्को टेस्ट होना चाहिए ताकि सच्चाई उजागर हो सके कि किसमें कितना कमीशन खोरी हुआ है और वो सब पैसा कहाँ गया है l नीतीश कुमार और सुशील मोदी की शातिर जोड़ी षडयंत्र कारी विनाशकारी नीति के कारण बिहार मेंअफसरशाही बढ़ा है और ईमानदार अधिकारियों का मनोबल डाउन करने के लिए संटिंग पोस्टिंग दी गई है लेकिन भ्रष्टाचार में संलिप्त लोकसेवकों को मालदार पोस्टिंग आरसीपी टैक्स वसूल कर दिया गया है जिसकी गहराई से जाँच होनी चाहिए l प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गृहमंत्री अमित शाह भारत की न्यायपालिका के संबंधित जिम्मेवार न्यायमूर्ति से आग्रह है कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी को जेल भेजकर बिहार की जनता को न्याय दिलावें l

तमाम मीडिया के लोगों से अनुरोध है कि नीतीश कुमार के कुशासन का सच दिखाने के लिए ग्राउंड रियलिटी दिखाए न कि विज्ञापन और प्रलोभन में आकर सच्चाई पर पर्दा डाले मैनुपुलेट करे l बिहार की जनता उन मीडिया को माफ नहीं करेगी जो नीतीश कुमार की दलाली और चाकरी करते हैं l बिहार के दुर्दांत शातिर अपराधियों माफियाओं से नीतीश कुमार की घनिष्ठता निकटता की गहराई से जाँच पड़ताल कर जनहित समाजहित में श्वेतपत्र जारी होना चाहिए ताकि पूरी तरह से बेनकाब किया जा सके कि सत्ता संरक्षित अपराध और घोटाला बिहार में नीतीश कुमार का देन है और नेपथ्य में मुख्य किरदार नीतीश कुमार ने निभाये हैं l

04-Oct-2019 08:51

जुर्म मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology