07-Jan-2019 06:20

प्रदीप और दीपक मदान के ब्लैकमेल का राहुल जिंदल ने किया पर्दाफास

जेल से बाहर आने के बाद प्रदीप मदान व दीपक मदान उन दोनों भाइयों राहुल जिंदल व सुमित जिंदल को sc/st एक्ट का गलत इस्तेमाल करके उनको इसमे झूठा फँसवाना चाहते है

नई दिल्ली । प्रदीप और दीपक मदान के ब्लैकमेल का राहुल जिंदल ने पर्दाफास करदिया है । प्रदीप मदान महिलाओ को खिलौना समझने वाला व्यक्ति जो कि गरीब घर की लड़कियों से शादी करता है और उन्हें छोड़ देता है अभी तक तीन लड़कियों को छोड़ चुका है और अब चौथी शादी की है गरीब होने की वजह से वो लोग आने हक़ के लिए इनसे लड़ भी नही पाते । इन्ही बातों से इसके विचार और व्यक्तित्व का पता चलता है कि ये कैसा व्यक्ति होगा । अपने भाई दीपक मदान को राष्ट्रीय संगठन मंत्री बताता है और अपने आप को भाजपा में मंत्री बताता है इन दोनों भाइयों का काम है लोगो को ब्लैकमेल करना । ये काफी समय से भाजपा से जुड़े थे लेकिन जब गरीब लोगों की शिकायत इनके खिलाफ जाने लगी तो इनको वहां से निकाल दिया गया । भाजपा में होने का डर दिखाकर ओर अपने आप को एमसीडी का कर्मचारी बताकर गरीब रैहड़ी पटरी वालो से पैसे वसूलते थे और आधार कार्ड या राशन कार्ड बनवाने के लोगो से पैसे लेते थे इसलिए इनको हटा दिया गया था । ऐसे ही ब्लैकमेल करने के लिए इन्होंने राहुल जिंदल को निशाना बनाया जो कि नाहरपुर कार मार्किट एसोसिएशन का प्रधान है और भाजपा मण्डल में उपाध्यक्ष पद के साथ स्वदेशी जागरण मंच जैसे धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं से जुड़े हुए है । उन्होंने राहुल जिंदल को धमकी दी कि मैं तुम्हारी मार्किट बंद करवा दूंगा नही तो मुझे पैसे दो । राहुल जिंदल इन दोनों को ओर इनके परिवार के भाइयो को 10-15 साल से जानते है व इनके घर मे खाना पीना भी करते थे । राहुल जिंदल को कम समय मे भाजपा में पहचान मिलने की वजह से प्रदीप मदान व दीपक मदान राहुल जिंदल को बदनाम करना चाहते थे इसलिए प्रदीप मदान व दीपक मदान ने राहुल जिंदल के बारे में अफवाहे उड़ाना चालू कर दिया ।

राहुल जिंदल की मार्किट में राहुल जिंदल की गैरमौजूदगी में उनको राहुल जिंदल के खिलाफ उल्टा सीधा बोलने लगा जिसका मार्किट के लोगो ने विरोध भी किया । इस बात का राहुल जिंदल के पास सबूत के तौर पर एक वीडियो है जब ये बात राहुल जिंदल को पता चली तो उसने दीपक मदान को तीन दिन तक लगातार फ़ोन किया । मिलने के लिए की क्या बात है मिलकर बात कर ले पर हर बार कोई न कोई बहाना बनाकर मन कर देता है और 29 अक्टूबर 2018 को प्रात: 11 बजे जब राहुल जिंदल के भाई सुमित जिंदल ने प्रदीप मदान को फ़ोन किया कि क्यों तेरा भाई मार्किट में आकर गाली गलौच करता है तो उसने अपने घर के पास बुला लिया ।

बात करने के लिए तो राहुल जिंदल ओर सुमित जिंदल दोनों भाई जैसे ही वहाँ गए प्रदीप मदान व दीपक मदान वहाँ पहले से तैयारी में थे उन्होंने दोनों भाइयों को मारना चालू कर दिया इतने में वहाँ उसके सभी रिश्तेदार वहां इक्कट्ठे हो गए और फिर प्रदीप मदान के पिता ओमप्रकाश मदान ने भी डंडा लेकर मारना चालू कर दिया इतने में राहुल जिंदल ने पुलिस को फ़ोन करने के लिए फ़ोन निकाला तो दीपक मदान में राहुल जिंदल का फ़ोन व उसके गले मे डली सोने के चैन लेकर अपने घर की तरफ भाग गया । फिर सुमित जिंदल ने 100 नंबर पर फ़ोन किया पर किसी ने नही उठाया फिर लड़ाई में सुमित जिंदल का फ़ोन वही गिर गया जो बाद में मौके वारदात के पास पनवाड़ी की दुकान वाले ने वापिस गया जब पुलिस वहां छानबीन करने सुमित को लेकर गयी तो उन्होंने व उनके परिवार ने राहुल जिंदल व सुमित जिंदल को पकड़कर 100 नंबर पर झूठी कॉल कर दी की ये दोनों भाई हमारे पैसे छीन कर भाग रहे थे ।

मौके पर पुलिस आयी तो उन्होंने दोनों भाइयों को जीप में बैठा लिया और साथ मे प्रदीप के पिता ओमप्रकाश भी बैठ गए पुलिस अधिकारी भी प्रदीप मदान व उसके भाई दीपक मदान को देखकर समझ गए थे क्योंकि ये उनका रोज़ का काम था किसी भी शरीफ आदमी को फसाना या उनको ब्लैकमेल करना। उसके बाद पुलिस ने दीपक मदान, प्रदीप मदान व उनके पिता ओमप्रकाश मदान पर रॉबरी का मुकदमा बना कर भेज दिया । अब जेल से बाहर आने के बाद प्रदीप मदान व दीपक मदान उन दोनों भाइयों राहुल जिंदल व सुमित जिंदल को sc/st एक्ट का गलत इस्तेमाल करके उनको इसमे झूठा फँसवाना चाहते है । और इसके लिए हर सरकारी महकमे में झूठी शिकायते दर्ज करवा रहे है कि पुलिस मामला दर्ज नही कर रही । ओर कई लोकल न्यूज़ चैंनलों को भी पैसे देकर झूठी वीडियो बनाकर लोगो को भेज रहे है ओर कई शिकायतों में तो ओर वीडियो में तो इनके खुद के बयान अलग अलग है जिससे इनके झूठे होने का पता चलता है जबकि राहुल जिंदल के पास उनकी साथ हुई घटना के सबूत भी है ।

07-Jan-2019 06:20

जुर्म मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology