16-Aug-2019 01:03

शिवहर विधायक मो. सरफुद्दीन जैसे को सदनों में स्थान क्यों : विकेश कुमार

एक विधायक जो सदन, संविधान में आस्था और सम्नमान नहीं रखता, उसे तुरंत निष्कासित किया जाए

जब पुलिस और जिलाधिकारी संविधान की रक्षा नहीं कर सकते हैं तो उन्हें जिले की बागडोर आम जनता से अवैध वसूली के लिए रखा जाता है। जिला प्रशासन के सामने एक विधायक ने भारत के तिरंगे का अपमान किया और वह अभी तक जेल नहीं भेजा गया। आज भारत स्वतंत्रता दिवस की 73वीं दिवस मना रहा है। पूरे देश में हर्षोल्लास का माहौल है और हर कोई तिरंगे के प्रति सम्मान की भावना रखता है। तिरंगा एक झंडा नहीं है बल्कि हमारा गौरव हैं। तिरंगे में संपूर्ण राष्ट्र समाहित है और संविधान उसका प्रहरी। देश में आज जहां असली और नकली राष्ट्र वाद की परिभाषा गढ़ी जा रही है। तो वहीं कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि राजनीतिक दलदल में फंसे राजनीतिक दलों के सहारे अपनी गलत मंसा को दुरुस्त कर लें।

शिवहर से जदयू के विधायक मो. सरफुद्दीन शिवहर में झंडोत्तोलन समारोह में शामिल हुए। एक सरकारी खानापूर्ति की जबाव देही के लिए विधायक मो. सरफुद्दीन झंडोत्तोलन स्थल पहुंचे। झंडोत्तोलन के दौरान ना तो विधायक मो. सरफुद्दीन ने राष्ट्रीय ध्वज को सलामी दी और ना ही राष्ट्र गान गुण गुणाने की कोशिश की। यह बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि एक सदन में बैठने वाले विधायक को भारत के राष्ट्रीय ध्वज के सम्मान के प्रति जिम्मेदारी क्या होती हैं, नहीं पता ? या जानबूझकर राजनीति के आर में मुस्लिम वाद को बढ़ावा देकर संविधान और सदन पर अविश्वास रखता है।

सुबह से ही विधायक मो. सरफुद्दीन के खिलाफ शिवहर की जनता का आक्रोश चरम पर है। लोगों का मानना है कि शिवहर के माननीय विधायक मो. सरफुद्दीन को धारा 370 की सदमा लग गया हैं। तिरंगे को सलामी के समय गाल पर हाथ। मो. सरफुद्दीन जो है जदयू के विधायक है, उन्होंने आज राष्ट्र द्रोह का काम किया है।

इस संबंध में विशेष जानकारी देते हुए भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच फाउंडेशन के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव विकेश सिंह शिवहर ने कहा कि मो. सरफुद्दीन सदन के योग नहीं है। मैं बिहार सरकार एवं भारत सरकार से आह्वान करते हैं कि कल यानी 16 अगस्त को विधायक मो. सरफुद्दीन के खिलाफ राष्ट्र द्रोह का मुकदमा चलाते हुए फांसी की सजा दिलाने। अगर सरकार कोई भी टाल मटोल रवईया उठाती हैं तो सरकार और विधायक के खिलाफ एक जनांदोलन की शुरुआत की जाएगी। देश में ऐसे गद्दारों के लिए कोई जगह नहीं है।

16-Aug-2019 01:03

जुर्म मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology