27-Dec-2019 03:18

मप्र पुलिस भर्ती परीक्षा, आरक्षक के 9000 पद, सब इंस्पेक्टर के 200 पद

2018 और 2019 में भर्ती नहीं किए जाने के कारण आगामी परीक्षा में 15 लाख उम्मीदवारों के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है

भोपाल : पुलिस मुख्यालय भोपाल मध्य प्रदेश ने रिक्त पदों पर भर्ती के लिए तैयारियां शुरू कर दी है। MP POLICE JOB के लिए इस बार मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (MPPEB) द्वारा भर्ती परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा बल्कि मध्यप्रदेश में पुलिस की नौकरी के लिए भर्ती परीक्षा का आयोजन भी पुलिस विभागीय करेगा। यह परीक्षा जिला स्तर पर होगी। सभी पुलिस अधीक्षकों को पत्र जारी कर दिए गए हैं।

सभी जिलों में होगी लिखित परीक्षा, मध्य्र प्रदेश में खाली पड़े पुलिस आरक्षक, सब इंस्पेक्टर, सूबेदार आदि पदों पर भर्ती के लिए पुलिस मुख्यालय ने तैयारी शुरू कर दी है। यह परीक्षा फरवरी-मार्च में कराने की संभावना जताई जा रही है। खास बात यह है कि इस बार पूरी भर्ती पुलिस मुख्यालय अपने स्तर पर कराने की तैयारी कर रहा है। इसमें लिखित परीक्षा भी पुलिस मुख्यालय के द्वारा ही आयोजित कराई जाएगी। इसके लिए सभी जिला पुलिस अधीक्षकों को भी निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उनसे कहा गया है कि पुलिस विभाग की आगामी भर्ती में लिखित परीक्षा का आयोजन किया जाना है, इसके इंतजाम किए जाएं।

शासन के पास प्रस्ताव भेजा, पुलिस मुख्यालय द्वारा परीक्षा आयोजन कराने के लिए शासन को प्रस्ताव भेज दिया है। शासन से मंजूरी मिलते ही विज्ञापन जारी किया जाएगा। इसमें पिछले साल आरक्षक के 5750 और सब इंस्पेक्टर के करीब 160 पदों पर भर्ती करने की मंजूरी मिली थी। हालांकि, आगामी परीक्षा में इनमें बढ़ोतरी होने की संभावना जताई जा रही है। इस बार आरक्षक, सब इंस्पेक्टर आदि के लिए करीब 9 हजार पदों पर भर्ती निकाली जा सकती है। प्रदेश में आरक्षक समेत विभिन्न पदों के लिए अंतिम बार 2017 में परीक्षा हुई। इस दौरान लिखित परीक्षा प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) ने आयोजित कराई थी। एडीजी चयन एवं भर्ती संजीव शमी ने बताया कि पुलिस मुख्यालय पहले भी भर्ती कराता आया है। आगे भी करा सकता है। नए साल में भर्ती कर ली जाएगी। इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

15 लाख उम्मीदवारों के परीक्षा में शामिल होने की संभावना, 2018 और 2019 में भर्ती नहीं किए जाने के कारण आगामी परीक्षा में 15 लाख उम्मीदवारों के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है, इसलिए पीएचक्यू द्वारा जिला अधीक्षकों को उनके जिले में आयोजित पिछली परीक्षा में शामिल उम्मीदवारों की जानकारी भी भेजी गई है। ताकि वे उसके आधार पर अनुमान लगाकर तैयारी कर सकें। इस आधार पर बनाए जाएंगे परीक्षा केंद्र, 1. केंद्र में महिलाओं तथा पुरुष के लिए अलग-अलग टॉयलेट, केंद्र में पीने के पानी की व्यवस्था, परीक्षा केंद्र में चाहर दीवारी होना अनिवार्य है। केंद्र में लगभग एक उम्मीदवार के लिए क्लॉक रूम की व्यवस्था होना चाहिए, जहां पर उम्मीदवार अपना सामान रख सकें। 2. हर उम्मीदवार के लिए डेस्क एवं कुर्सियों की व्यवस्था। परीक्षा कक्ष में बैठक व्यवस्था में एक उम्मीदवार से दूसरे उम्मीदवार के बीच चारों दिशाओं में न्यूनतम 1.5 मीटर का अंतर होगा। हर चिह्नित कक्ष में संभावित उम्मीदवारों की संख्या जिनकी परीक्षा ली जाएगी, उसकी जानकारी भी मांगी गई है।

27-Dec-2019 03:18

पुलिस मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology