21-Oct-2019 11:01

आप जिंदा है तो 7 नवम्बर पटना गांधी मैदान में जिंदा नजर आना जरूरी है : आशुतोष कुमार

उसूलों पे आंच आये तो टकराना जरूरी है, अगर आप जिंदा है तो 7 नवम्बर पटना गांधी मैदान में जिंदा नजर आना जरूरी है।

7 नवंबर को पटना चलें और ब्रह्मर्षि महाकुंभ में डुबकी लगाएं और अपने आने वाली पीढ़ियों को सुरक्षित भारत धमाये। लंबे समय से राजनीतिक एवं सामाजिक संरचनाओं को शांति एवं परंपरागत तरीकों से मजबूती करने का प्रयास ब्राह्मर्षियों ने किया। 7 नवंबर महायज्ञ सफल तो होना ही है, लाखों समर्पित कार्यकर्ता का मेहनत रंग लाएगा। अब तो बस बात रह गयी, आपका सहयोग कितना होगा। इसे विराट सफलता की ओर ले जाने में। यह कहते हुए आशुतोष कुमार ने कहा कि आपका सहयोग एक नई मिसाल कायम करेगा। भूमिहार ब्राह्मण एकता के लिए आप हम मिलकर पटना के गांधी मैदान को भरें और राजनीतिक हुक्मरानों की नींद उड़ाते। अतः तन मन धन जिससे भी आप सक्षम हैं, इस यज्ञ में आहुति जरूर दें। यह महा मिलन हमारी भविष्य की पटकथा लिखेगा और फिर से वही पुराना वजूद लौटाने में मिल का पत्थर साबित होगा। अतः अपना सहयोग सुनिश्चित करें। आने वाली पीढियां जरूर पूछेगी, आपसे आपके सहयोग के बारे में। *जय परशुराम*

गाँधी मैदान रैली का मकसद के संबंध में कहते हुए दिल्ली एनसीआर के सचिव शेखर शर्मा बताते हैं कि सरकार को भूमिहार और ब्राह्मण समुदाय के ताकत का एहसास कराना। आर्थिक आधार पर आरक्षण की माँग को मजबूती से सरकार के पास रखना..कम से कम 25% आरक्षण। सवर्ण आयोग की माँग। हरेक जाती के गरीब लोगों को छात्रावास और छात्रवृत्ति मिलता है लेकिन ब्रहर्षि समुदाय के छात्र इससे वँचित है।इसलिए हरेक जिला में परशुराम छात्रावास और गरीब ब्रहर्षि को छात्रवृत्ति का लाभ दिलवाना। SC/ST एक्ट जैसे काले कानून को निरस्त करवाना। श्री बाबू, राष्ट्र कवि दिनकर जैसे महापुरुष को किसी भी हालात में भारत रत्न मिलना चाहिए। भारत में भारतीय संविधान के तहत समानता का अधिकार लागू हो। इसके अलावे भी बहुत सारे मुद्दे हैं जिससे भारत को विश्व पटल पर स्थापित करने में मदद करेंगी। आशुतोष कुमार जैसे योद्धा को सहयोग कीजिए आने वाला समय ब्रहर्षियों फिर से होगा। यही से भारत में भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार एक वृहत स्तर पर सोच़ के साथ आगे बढ़ रहे हैं। एक आंदोलन की तैयारी हैं जो बिहार के नव निर्माण की पृष्ठभूमि तैयार करने निकली हुई हैं। यह कहते हुए उत्तम शर्मा कहते हैं कि ऐसी ही एक पहल है, पटना के गांधी मैदान में 7 नवंबर को। ये एक ऐतिहासिक पहल है, जब कोई गैर राजनीतिक संगठन लोगों को जुटाने में लगा है और राज्य में हो रहे भ्रष्टाचार, चरमराती हुई कानून व्यवस्था, मृत शिक्षा व्यवस्था, दफन हो चुकी स्वास्थ्य व्यवस्था, जाति विशेष को अंकित कर उसके खिलाफ षडयंत्र रचना, इत्यादि के खिलाफ आवाज उठाने की कोशिश में लगा है। आप सभी से आग्रह है इसका हिस्सा बने। आशुतोष कुमार  के नेतृत्व में भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच फाउंडेशन ने ये जिम्मा उठाया है। जागो बिहार जागो। 7 नवंबर को पटना का गांधी मैदान फिर एक नया इतिहास देखेगा। जो बिहार का भविष्य बदले गा और नया बिहार की नींव रखेंगा। इसलिए सभी बिहारी बहनों और भाइयों से आग्रह है, इस इतिहास का हिस्सा बने। 7 नवंबर को गांधी मैदान चलें।

सात नवम्बर के रैली को सफल बनाना हम सबों की जिम्मेदारी है, यह कहते हुए अनंत कुमार कहते हैं कि बिहार को आवश्यकता है, विद्यालयों की जहां अच्छे शिक्षक हो, अस्पतालों की जहां डाक्टर मौजूद रहें और साथ में उन डॉक्टर्स को जांच पड़ताल करने की सुविधा हो, जरूरत है रोजगार की, जिससे हमारे युवक 7000 की नौकरी करने देश के विभिन्न कोने में ना जाए, एक बेहतर कानून व्यवस्था की, जिससे नागरिक सुरक्षित महसूस करें। लेकिन पिछले कई दशकों से इसका विपरीत होता आया है। 

वहीं भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच फाउंडेशन के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव विकेश कुमार कहते हैं कि सही मायने में श्री बाबू के बाद बिहार का ग्राफ नीचे गिरता रहा है। कल कारखाने बंद हो गए, जिससे बेरोजगारी बढ़ी और लोग क्राइम की तरफ बढ़ गए। पिछले तीन दशक की सरकार ने सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने के लिए जातियों के अंदर कई विभाजन किए। पिछड़ा से अती पिछड़ा, दलित से महा दलित। इसको ही ये लोग उन्नति मानते हैं। अब जरूरत है एक क्रांति की। बिहार हमेशा से क्रांतिकारी भूमि रही है। चाहे वो आज़ादी की लड़ाई हो, श्री बाबू के समय फैक्टरियों कि क्रांति हो, छात्र क्रांति हो, या तीन दशक से घोटालों कि क्रांति हो। समय आ गया है एक ऐसी क्रांति का जो बिहार को इस दलदल से निकाल सके। 

21-Oct-2019 11:01

भारत_दर्शन मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology