23-Jan-2019 05:28

तुम मुझे खून दो और मैं तुम्हें आज़ादी दूँगा

जापान से सहयोग लेकर आजाद हिंद फौज की स्थापना की

हाजीपुर सुभाष चौक पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 122 वी जयंती नंद कंपलेक्स पर सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा मनाई गई । नेताजी सुभाषचंद्र बोस के तैल चित्र पर पुष्पांजली एवं माल्यार्पण कर वरीय अधिवक्ता नंदकिशोर झा द्वारा विधिवत दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई । अध्यक्षता करते हुए प्रवीण कुमार रंजन ने कहा कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस स्वतंत्रता आंदोलन के नायक नहीं बल्कि महानायक थे उन्होंने देश की आजादी के लिए जापान से सहयोग लेकर आजाद हिंद फौज की स्थापना की आजाद हिंद फौज के द्वारा अंडमान निकोबार दीप समूह एवं कोहिमा और भारत के बहुत सारे हिस्सों को आजाद करा लिया गया। संचालन करते हुए अधिवक्ता राजकुमार दिवाकर ने कहा कि नेता जी के द्वारा सन 1943 ईस्वी में भारत की स्वतंत्रता की घोषणा कर दी गई थी जिसका समर्थन चीन, जापान ,जर्मनी एवं इटली ने भी किया था ।कार्यक्रम में उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए भाजपा वैशाली जिला अध्यक्ष क्रीड़ा मंच हरेश कुमार सिंह ने नेताजी के रंगून के जुबली हॉल के भाषण की याद ताजा करते हुए कहा कि भारत की स्वतंत्रता बलिदान चाहती है आपने आजादी के लिए बहुत त्याग किया है किंतु अभी प्राणों की आहुति देना शेष है आजादी को आज अपने शीश फूल की तरह चढ़ाने वाले पुजारियों की आवश्यकता है जो अपना शीश काटकर स्वाधीनता की देवी को भेंट चढ़ा सके । नेता जी ने कहा था तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा । खून भी एक दो बूंद नहीं इतना कि खून का महासागर तैयार हो जाए और उसमे मैं ब्रिटिश साम्राज्य को डुबो दूं । भाजपा जिला अध्यक्ष हरेश कुमार सिंह ने कहा कि नेताजी के द्वारा दिया गया जय हिंद का नारा भारत का राष्ट्रीय नारा बन गया ।

नेताजी का मानना था स्वतंत्रता हासिल करने के लिए राजनीतिक गतिविधि के साथ कूटनीतिक एवं सैन्य सहयोग की जरूरत पड़ती है ।ऐसे महापुरुष की जयंती पर भारत सरकार से राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग की और कहा कि देश के नेता जी के बताए मार्ग पर चलने की जरूरत है । अधिवक्ता मुकेश रंजन ने जिला प्रशासन से सुभाष चौक पर नेताजी की आदमकद प्रतिमा स्थापित करने की मांग की।

साहित्यकार मे मेदनी कुमार मेनन ने भारत सरकार से नेता जी के मृत्यु के रहस्य को सार्वजनिक करने की मांग की । डॉ सुधीर कुमार ने कहा कि आजाद भारत के लिए अपना बहुमूल्य योगदान देने वाली भारतीय नारी को सम्मान देते हुए रानी झांसी रेजीमेंट का भी गठन नेता जी ने किया था जिसकी कैप्टन लक्ष्मी सहगल बनी थी । इस अवसर पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस मोर्चा का गठन करने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया ।

कार्यक्रम को पूर्व कर्मचारी नेता तिलेश्वर पासवान, अधिवक्ता विशाल कुमार ,विवेक कुमार, सुनील कुमार , ओंकार नाथ सिंह, शैलेश कुमार, भूषण कुमार सिंह , मनोज कुमार सिंह, विनय कुमार झा, ख्वाजा हसन खान, मोहम्मद अशरफ सहित ने अपने क्रांतिकारी विचारों को रखा एवं नेता जी के तैल चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया ।

23-Jan-2019 05:28

भारत_दर्शन मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology