22-Oct-2018 09:56

भारत को एक नया राजनैतिक मोड़ देने निकले ई. रविन्द्र कुमार सिंह

पहले राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा के पहले चरण की समाप्ति के साथ ही बदल गई तस्वीर। एक नये राजनैतिक भुचाल लाने को तैयार बढ़े लोगों में एक नई आशा की किरण ही हैं राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा।

भारत एक सभ्यता युक्त राष्ट्र के रूप में अपने आप को संयोजित किया हैं। यह भारत का अपना गौरवशाली परम्परा रही है कि वह मानवता के साथ-साथ प्रकृति के सभी दैविक उत्पत्तियों से प्यार किया हैं। साथ ही साथ भारत में जन्म लेने वाले मनुष्यों को एक संस्कृति परम्परागत तरीकों से पीढ़ी दर पीढ़ी बढ़ाने की बौद्धिक क्षमता प्रदान किया। जहाँ सत्य ही जीवन हैं और सनातन एक परम्परा के स्वरूप में जीवन की कला प्रदान किया। संपूर्ण सृष्टि में ईश्वरीय शक्ति का समावेश भारतीय भू-भाग से ही प्रवृष्ठ हुई। हमें यह समझने की आवश्यकता है कि हमें किस स्वरूप में भारत का नया निर्माण करना है। निर्माण की परिभाषा हमें तय करना होगा, क्योंकि वर्त्तमान राजनीतिक क्षमता से भारत का विकास संभव नहीं दिख रहा हैं। भारत की आजादी के बाद से ही अंग्रेजी परम्पराओं को आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई। हमारे कानूनविद्वों द्वारा भारत को बिना समझे ही संविधान बनाया गया। संपूर्ण विश्व के संविधान में से कुछ-कुछ लेकर उस भारत का संविधान बनाया गया, जो खुद लोकतंत्र की स्थापना का जीता जागता उदाहरण रहा हैं। लोकतंत्र के लिए सिर्फ और सिर्फ भारत उत्तरदायी है और इस राष्ट्र के निर्माण में विश्व के मापदंड को फाँलों किया गया। यह दुखद् है कि अगर हमारे संविधानविद्वों को यह समझ नहीं आई तो उन्हें वैशाली आकर समय देना चाहिए था।

खैर, यह आज महत्त्वपूर्ण हो चला है कि भारत में लोकतंत्र की स्थापना का मार्ग पूर्ण रूप से प्रसस्त हैं। लेकिन हमारे राजनैतिक दलालों के चलते ही भारत लोकतंत्र से कोसों दूरी पर हैं। लोकतंत्र में प्रत्येक व्यक्ति को महत्व दिया जाता है और आज हमारे भारत को लोकतांत्रिक देश मानते हुए भी लोकतंत्र की कोई गुंजाइश नजर नहीं आती हैं। आम जनता को राजनेताओं व ब्यूरोक्रेसी के माध्यम से गुलाम बना कर रखा गया है। राजनीतिक पुरोहितों द्वारा आम जनमानस में एकता को खंडित-खंडित कर रखा गया है। राजनीतिक पुरोहितों द्वारा हिंदू-मुस्लिम, जाति-धर्म, क्षेत्रवार के नाम पर लगातार बाँटते रहते थें। लेकिन अच्छे दिन की सरकार के आने के बाद पति-पत्नी के रिश्तों को भी तार-तार कर दिया। वहीं अराजकता हर परिवार में फैलाया गया और पिता-पुत्र के रिश्तों तक को तार-तार अच्छे दिन की सरकार ने कर दिया। साथ-ही-साथ भारत की अखंडता तो खंडित करने के लिए युवाओं को गुमराह कर राम के नाम पर तार-तार कर दिया गया और भारत के युवाओं को अपराधी बनाया गया। राम नाम जहाँ भव सागर पार करने का माध्यम है, वह आज राम के नाम पर 90% हिंदू के बच्चों को जेलों में डाल दिया। यहीं जब अच्छे दिन लाने की तैयारी थी तो तथाकथित हिंदू सम्राट द्वारा युवाओं को राम मंदिर के नाम पर आंदोलित किया गया, जिसका परिणाम ही है कि युवाओं को हासिल हुआ तो सिर्फ़ और सिर्फ़ जेल। जाति वाद विवाद जो 2014 लोकसभा चुनाव में खत्म होते नज़र आई थी, वह आज बड़ा राजनैतिक हथियार बन चुका है। वर्ण व्यवस्था को धर्मवाद और जातिवाद से लेकर छोटी-छोटी प्रजातियों में अच्छे दिन की सरकार ने बदल दिया।

आज एकता और अखंडता की मजबूती के लिए ही राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा शुरू की गई हैं। राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा जो 02 अक्टूबर 2018 से गाँधी की जन्मभूमि चम्पारण से शुरुआत की गई और 5 फरवरी 2019 को यात्रा का समापन किया जाएगा। वहीं इस राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा का सबसे महत्त्वपूर्ण भूमिका 25 फरवरी 2018 को गाँधी मैदान, पटना में आयोजित महारैली के माध्यम से समपन्न किया जाएगा। इस दौड़े को लेकर बिहार के प्रत्येक जिलों में एक बड़ा बदलाव दिख रहा है। ई. रविन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि लगभग 50 हजार से ज्यादा लोगों के मिस्डकॉल प्राप्त हुए और 30 हजार के आस-पास संदेश प्राप्त हुए हमारें व्हाट्सएप, ईमेल, फेसबुक, ट्विटर और हमारे ऐप व बेवसाईट पर।

यह जनसंपर्क यात्रा भारत को राजनैतिक रूप से मजबूत करने के लिए किया जा रहा है। धर्म, जाति के नाम पर राजनैतिक एजेंडें को ध्वस्त करने की तैयारी है। युवा भारत को युवाओं के साथ नये राजनीतिक भविष्य तय करने के लिए तैयार किया जा रहा है। राजनैतिक महत्वाकांक्षा को युवाओं को समझने के लिए ही राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा के माध्यम से पुरा किया जा रहा है। बौद्धिक विकास के लिए हमें नई राजनीतिक जीवन को जीने का मार्ग प्रसस्त किया जा रहा है। राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा की आवश्यकता को महसूस करते हुए हमारी संपूर्ण सदस्यों द्वारा एक जनसंपर्क यात्रा की जा रही हैं। । जिसकी नेतृत्व की जिम्मेदारी मुझे (ई. रविन्द्र कुमार सिंह) सौंपा गया है। इस बड़ी जिम्मेदारी को बेहतरीन तरीके से सफ़ल बनाने के लिए हम कटिबद्ध है और हम मिलकर नया भारत बनायेंगे।

22-Oct-2018 09:56

भारत_दर्शन मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology