20-Jan-2020 10:09

सरकार की कर्ज माफी को बैंक दिखा रही है ठंडा

जमीनी स्तर पर अधिकारी नहीं कर पा रहे हैं समाधान

कमलनाथ सरकार की जय किसान फसल ऋण माफी योजना ओं की फायदा नहीं मिलने से से किसानों में बढ़ रही नाराजगी के चलते जब सरकार ने जिले में अधिकारियों को देखकर योजना की जमीनी हकीकत और उसमें आ रही परेशानियों का पता लगाने के लिए भोपाल से कृषि और सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की टीम को सभी 52 जिलों में भेजा है अधिकारी फसल ऋण माफी को लेकर किसानों और विभागों के स्तर पर आ रही समस्याओं की जानकारी जुटा रहे हैं इस संबंध में टीम ने बीते सोमवार को अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपी दी है

दरअसल कर्जमाफी में हो रही देरी के मध्य नजर किसान असमंजस में है कि उनकी ऋण माफ होगा या नहीं मंत्री विधायकों के माध्यम से मुख्यमंत्री कमलनाथ को इस संबंध में लगातार शिकायतें मिल रही हैं यही वजह है कि सरकार ने अधिकारियों को जिले में रवाना किया है यह अधिकारी जिलों में कृषि सहकारिता राजस्व विभाग के अफसरों सरकारी बैंकों के जिला के अफसरों के साथ बैठकर कर्ज माफी में आ रही दिक्कतों की जानकारी ले रहे हैं अब अधिकारी अपने दौरे की रिपोर्ट बनाकर शासन को सौंपेंगे

कर्ज माफी में अब तक इन्हें मिले लाभ, जय किसान फसल ऋण माफी योजना में चरण वृद्ध तरीके से किसानों का कर्ज माफ किया जा रहा है इसके पहले चरण में करीब 2000000 किसानों का 7000 करोड़ से ज्यादा का कर्ज माफ किया जा चुका है पहले चरण में किसानों को 50000 तक का ऋण माफ किया गया है कर्ज माफी के दूसरे चरण में किसानों का एक लाख तक का कर्ज माफ किया जाएगा

इसलिए आ रही है परेशानी कई किसानों ने एक से ज्यादा बैंकों से लोन ले रखा है ऐसे किसानों ने यह सब बैंक से ज्यादा लोन लिया है उनका कर्ज माफ करने का आवेदन कर दिया है और कम कर्ज़ वाले सरकारी बैंकों का आवेदन नहीं भरा है क्योंकि सरकार पहले सरकारी बैंकों का लोन माफ कर रही है इसलिए और किसानों का कर्ज माफ नहीं हो पा रहा है ऐसे किसानों से पहले सरकारी बैंकों का लोन माफ करने के लिए आवेदन देने को कहां जा रहा है अफसरों से भी कहा जा रहा है कि पहले सरकारी बैंकों का कर्ज माफ का फार्म भरवाए सरकारी बैंकों का कर्ज माफ होने के बाद अन्य बैंकों के कर्ज माफ करने का आवेदन भरवाए जिलों में एमपी ऑनलाइन कराने और एंट्री कराने में परेशानी आ रही है एमपी ऑनलाइन के जिलों में प्रतिनिधियों से भोपाल के एमपी ऑनलाइन प्रतिनिधियों से चर्चा कर कर समस्या का मौके पर निस्तारण किया जा रहा है कई किसान ऐसे हैं जो दूसरे शहरों में राज्यों में हैं और उन्होंने कर्ज माफी के आवेदन नहीं भरे हैं ऐसे किसानों का व्यक्तिगत सूचनाएं दी जा रही है

20-Jan-2020 10:09

भारत_दर्शन मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology