23-Dec-2019 12:00

क्या सोने की तरह केंद्र सरकार प्याज को भी ग्राम के भाव बेचेगी : पप्पू यादव

बाजार समिति के सामने पप्पू यादव ने छात्र और महिलाओं के बीच बेचा सस्ता प्याज़

पटना, 8 दिसंबर 2019 : जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव प्‍याज की बढ़ी कीमतों को लेकर लगातार केंद्र सरकार पर आक्रमक हैं। इस वजह से भाजपा कार्यालय, बिहार के उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी के घर और लोजपा कार्यालय के पास सस्‍ता प्‍याज बेचने के बाद पप्‍पू यादव ने आज बाजार समिति के गोलंबर पर छात्रों एवं महिलाओं के बीच 30 रूपए प्रति किलो प्‍याज बेचा। विभिन्न लॉजों में रहने वाले छात्रों एवं इस इलाके की महिलाओं को जैसे ही इस बात की खबर मिली कि पप्पू यादव, बाजार समिति गोलंबर पर सस्ते दर पर प्याज बेच रहे हैं, तो कुछ ही देर में सैकड़ों की संख्या में छात्र-छात्राओं एवं नौजवान सहित बड़ी संख्या में महिलाएं यहां पर पहुंच गई। उन्‍होंने लंबी-लंबी कतारों में खड़े होकर 30 रुपये प्रति किलो प्याज खरीदा। आज करीब 20 क्विंटल से ऊपर प्याज बेचा गया।

इस दौरान पप्पू यादव ने कहा कि केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार छात्र और महिलाओं को प्याज के आंसू आंसू रुला रही है, क्योंकि सबसे ज्यादा इन्हीं लोगों को प्याज के महंगे होने का एहसास हो रहा है। छात्र और महिलाओं के प्रति राज्य एवं केंद्र सरकार का दृष्टिकोण ठीक नहीं है। सरकार इनका दर्द नहीं समझ पा रही है। एक तरफ जहां बिहार में बलात्कार की घटनाओं में वृद्धि हुई है, वहीं दूसरी ओर महंगाई के कारण महिलाओं को घर चलाना भी मुश्किल हो रहा है। जिस तरह से मासूम बच्चों पर अत्याचार की घटनाएं हो रही है और राज्य सरकार चुप्पी साधे हुए हैं। उससे ऐसा लगता है कि राज्य में सरकार नाम की कोई चीज नहीं है और सरकार का इकबाल पूरी तरह से समाप्त हो गया है। आखिर क्या कारण है कि जब से भाजपा आई है ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के नाम पर बेटियों पर ही सबसे ज्यादा जुल्म हो रहा है। उन्हें हर तरह के संकट का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने ने कहा कि हम सभी जगहों पर प्याज दे रहे हैं। शादियों में भी प्याज दिया जा रहा है।

पप्पू यादव ने प्याज पर सब्सिडी की भी बात कह डाली और कहा कि सरकार जल्द ही इस मुद्दे पर कोई उपाय करे,जिससे दाम मे कमी हो । केंद्र सरकार जमाखोरों एवं प्याज माफियाओं के इशारे पर काम कर रही है जिस कारण हर दिन प्याज का रेट बढ़ ही रहा है, जबकि नए प्याज की आवक शुरू हो गई है। उसके बाद भी सरकार निर्यात की बात कर रही है, यह बात समझ से परे है। उन्‍होंने नीतीश सरकार से पूछा कि सितंबर अक्टूबर में जब प्याज केंद्र सरकार की ओर से दिया जा रहा था तो उन्होंने लेने से इनकार क्यों किया। और वही प्याज जब व्यापारी के पास पहुंचता है तो उसका दाम सोने जैसा हो जाता है, क्या प्याज भी अब सोने की तरह ग्राम में बिकना शुरू होगा यह सरकार को स्पष्ट करनी चाहिए।

इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, प्रदेश अध्यक्ष रघुपति सिंह, राष्ट्रीय महासचिव अकबर अली परवेज, डॉ रितेश राज, प्रदेश प्रधान महासचिव सूर्यनारायण साहनी, प्रदेश महासचिव संदीप सिंह समदर्शी, निरंजन कुमार, अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विमल कुमार महतो, युवा परिषद के अध्यक्ष बबन यादव, पटना जिला अध्यक्ष नवल, युवा परिषद के उपाध्यक्ष राजू दानवीर, प्रेमचंद सिंह, प्रवक्ता रजनीश तिवारी, तेज प्रताप सिंह सहित अन्य गणमान्य नेतागण उपस्थित थे।

23-Dec-2019 12:00

राजनीति मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology