15-Nov-2019 07:53

' जनसम्पर्क निरीक्षक शैलेश कुमार सिंह एक नज़र में '

डाक विभाग की पहचान बन चुके हैं शैलेश कुमार सिंह, - योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने व लोगों की समस्या के समाधान के लिए हमेशा रहते हैं तत्पर

20 अगस्त 2011 को देश में पहली बार 'डाक शिविर' कार्यक्रम की शुरुआत की . - 03 सितंबर 2013 को देश में पहली बार ' पोस्टल हेल्प लाइन ऑन मोबाईल सेवा ' की शुरुआत . - 10 मई 2015 को देश में पहली बार ' भारतीय डाक आपकी सेवा में ' कार्यक्रम की शुरुआत . - 24 दिसंबर 2014 को देश में पहली बार देश के नौनिहालों को 'डाक-दर्शन' कार्यक्रम अंतर्गत स्थानीय विद्यालयों के छात्र/छात्राओं को समस्तीपुर प्रधान डाकघर पर आमंत्रित कर डाक विभाग के स्वर्णिम इतिहास, उत्पाद व सेवाओं की विस्तृत जानकारी एवं उन योजनाओं से होने वाले लाभ के बारे में बताया जा रहा है . - 02 अक्टूबर 2018 को महात्मा गाँधी जी की जयंती के शुभ अवसर पर समस्तीपुर जिले के उजियारपुर प्रखंड से शिविर लगाकर जनसम्पर्क निरीक्षक शैलेश कुमार सिंह के द्वारा डाक विभाग की नवीनतम बैंकिंग सेवा ' इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक ' की जानकारी आम-अवाम को दी जा रही है और संबंधित खातें भी खोले जा रहे हैं . - 05 अक्टूबर 2018 को 'दैनिक जागरण समाचार पत्र' द्वारा आयोजित 'प्रश्न पहर' साप्ताहिक कार्यक्रम के माध्यम से ग्राहकों को डाक विभाग के उत्पाद व सेवा से संबंधित जानकारी एवं उनके प्रश्नों के जवाब जनसम्पर्क निरीक्षक (डाक) शैलेश कुमार सिंह के द्वारा दिया गया.

डाक विभाग की पहचान कौन ? राजमहलों के चकाचैंध से सहमी-शर्मायी झोपड़ियों तक डाक सेवा उपलब्ध कराने वाला कौन ? जन-जन में लोकप्रिय कौन ? मैं तो कहूंगा, मैं क्या सभी कहेंगे ‘शैलेश कुमार सिंह’, जिनके दिल में डाक सेवा का जज्बा तो जुबान पर समस्त डाक सेवाओं की जानकारी। डाक विभाग की योजनाओं को जन-जन तक पहुँचाने का जिम्मा समस्तीपुर डाक प्रमंडल के जनसंपर्क निरीक्षक सह मार्केटिंग एक्सक्यूटिव शैलेश कुमार सिंह ने उठा रखा है। अपने मृदुल व्यवहार व लोगों की मदद के लिए तत्पर रहना इनकी आदतों में शुमार है। यही कारण है कि शैलेश आज डाक विभाग की पहचान बन चुके हैं। शहर के लोग हों या फिर गांव-देहात के अपनी छोटी-छोटी समस्याओं के निराकरण के लिए उनकी नजर पोस्टऑफिस में शैलेश कुमार सिंह को ढूंढ़ती रहती है। उन पर नजर पड़ते ही लोगों में यह विश्वास जग जाता है कि अब मेरा काम तो हो ही जायेगा। डाक विभाग व इसकी योजनाओं के क्रियान्वयन से संबंधित सारी जानकारी इनकी जुबान पर है। अपनी सक्रिय कार्यशैली व डाक योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुँचाने के उद्देश्य से समय-समय पर इनके द्वारा नित्य नये-नये प्रयोग भी किये जाते रहे हैं। समस्तीपुर डाक विभाग में जनसंपर्क निरीक्षक (कार्यवाहक) का पदभार ग्रहण करने के पश्चात 6 जुलाई 2008 को इन्होंने जिले में पहली बार ‘जनसंपर्क निरीक्षक आपके द्वार’ कार्यक्रम की शुरुआत की। इसके माध्यम से लोगों से शिकायत व सुझाव आमंत्रित किये गये और समस्तीपुर डाक प्रमंडल के द्वारा उनकी समस्याओं का निदान भी किया गया। डाक प्रमंडल के द्वारा मार्केटिंग एक्सक्यूटिव की भी जिम्मेवारी सौंपने के पश्चात 20 अगस्त 2011 को उन्होंने देश में पहली बार ‘डाक-शिविर’ कार्यक्रम की शुरुआत मोरसंड गांव से की। इस कार्यक्रम में शैलेश समस्त डाक योजनाओं एवं उत्पाद तथा सेवाओं की जानकारी आम आवाम को उपलब्ध कराते रहे। साथ ही मौके पर ही बीपीएल, आरडी जैसे 268 खाते खोलकर कार्यक्रम के दौरान ही ग्राहकों के बीच पासबुक का भी वितरण किया गया। पुनः 26 अगस्त 2011 को चंदौली ग्राम में दूसरा ‘डाक शिविर’ लगाकर 355 खाते खोले गये और संबंधित ग्राहकों को पासबुक भी हाथों-हाथ उपलब्ध कराये गये। इसी तरह से क्रमशः शिवाजीनगर प्रखंड के रहियार कोंची में 7 सितंबर 2011 को, पूसा प्रखंड के मलिकौर में 28 सितंबर 2011 को, शिवाजीनगर प्रखंड के लक्ष्मिनिया गांव में 9 अक्टूबर 2011 में ‘डाक शिविर’ का आयोजन किया गया। इन शिविरों में कुल 1199 ग्राहकों को डाक विभाग से जोडकर उनके खाते खोले गये। इससे समस्तीपुर डाक प्रमंडल को करीब 1 लाख 75 हजार 54 रुपए का अतिरिक्त लाभ हुआ।

ग्लोबल मार्केटिंग व प्रतिस्पर्धा की दौर में ‘समस्तीपुर डाक प्रमंडल’ का नाम देश की अग्रणी कतार में शामिल कराने एवं ग्राहकों को बेहतर सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से शैलेश कुमार सिंह ने देश में पहली बार ‘पोस्टल हेल्प लाइन ऑन मोबाइल सेवा’ की शुरुआत 3 सितंबर 2013 को समस्तीपुर प्रधान डाकघर से साप्ताहिक कार्यक्रम के रूप में की। चूंकि देश में किसी भी स्तर पर डाक विभाग की कोई हेल्प-लाइन सेवा नहीं है जिस पर कॉल कर डाक विभाग की सेवाओ,ं उत्पादों की जानकारी ली जा सके और आने वाली समस्याओं के निदान का उपाय जाना जा सके। ज्ञात हो कि ‘पोस्टल हेल्प लाइन ऑन मोबाइल’ कार्यक्रम का उद्देश्य समस्त डाक सेवाओं एवं उत्पादों की जानकारी जन-जन तक पहुंचाना व आने वाली समस्याओं के समाधान के उपाय की जानकारी देना है। जनसम्पर्क निरीक्षक शैलेश कुमार सिंह ने बताया कि ग्राहकों के रूझान को देखते हुए 30 जून 2015 से इसे दैनिक कार्यक्रम में बदल दिया गया। पहले दिन ही देश के विभिन्न हिस्सों से करीब 179 कॉल आये जिसे शैलेश ने बड़ी ही सहजता से रिसिव कर उन्हें समाधान के उपाय बताये व चलाये जा रहे विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस हेल्प लाइन के लिए दिये गये मोबाइल नंबर - 7763819709 पर कॉल कर डाक विभाग के किसी भी कार्य दिवस को दोपहर 01 बजे से 03 बजे तक अपनी समस्याओं के समाधान के साथ-साथ समस्त डाक उत्पाद एवं सेवाओं की जानकारी ली जा सकती है। इतना ही नहीं डाक उत्पादों के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए देश में पहली बार 10 मई 2015 से ‘भारतीय डाक आपकी सेवा में’ कार्यक्रम की शुरुआत की गयी। इसके तहत सुदूर ग्रामीण इलाकों में शिविर लगाकर लोगों को समस्त डाक उत्पाद एवं सेवाओं की जानकारी दी जा रही है। कार्यक्रम की पहली कड़ी में वासुदेवपुर में शिविर लगाकर लोगों को सुकन्या समृद्धि योजना, न्यू पेंशन स्कीम, बचत खाता, आवर्ती जमा खाता, एमआईएस, टीडी, पीएलआई / आरपीएलआई,इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक,दीन दयाल स्पर्श छात्रवृति योजना, ' माई स्टाम्प ' , फिलाटेलिक खातें समेत अन्य उत्पादों व इसके फायदों से लोगों को अवगत कराते हुए उन्हें जागरूक किया जा रहा है। साथ ही संबंधित खातों के आवेदन पत्र भी लिये जा रहे हैं। हाल में देश के नौनिहालों को डाक विभाग की कार्य प्रणाली एवं सेवाओं की जानकारी देने के उद्देश्य से उनके द्वारा ‘डाक-दर्शन’ कार्यक्रम की शुरूआत प्रधान डाकघर से की गयी है। इस कार्यक्रम के माध्यम से स्कूली बच्चों को सुकन्या समृद्धि योजना, माई स्टांप योजना, फिलाटेलिक डिपोजिट एकाउंट और बचत खाते, कोर बैकिंग सेवा के साथ-साथ डाक विभाग के स्वर्णिम इतिहास से रूबरू कराया जा रहा है। बच्चों में पत्र लेखन की गिरती रूचि को ध्यान में रखते हुए उन्हें पत्र लेखन के प्रति प्रोत्साहित कर जागरूक किया जा रहा है ।साथ ही गत वर्ष महात्मा गाँधी जी की जयंती के शुभ अवसर पर 02 अक्टूबर 2018 में उजियारपुर प्रखंड में शिविर लगाकर क्रमवार डाक विभाग की नवीनतम बैंकिंग सेवा 'इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक' की विस्तृत जानकारी दी जा रही है व खातें खोले जा रहे है.

माननीय राष्ट्रपति ,सांसद , मंत्री ,विधायक,विधान पार्षद, निदेशक स्तर के पदाधिकारियों से मिल चुका है प्रशस्ति-पत्र -- 1. सेना डाक सेवा में वारंट ऑफिसर के पद पर 22 जुलाई 1987 से 26 अक्टूबर 1990 तक सेवा देने के पश्चात 15 जनवरी 1992 को नई दिल्ली में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति आर. वेकटरामन का हस्ताक्षरयुक्त प्रशस्ति-पत्र से इन्हें नवाजा गया था। 2. निदेशक डाक प्रशिक्षण केंद्र दरभंगा द्वारा वर्ष 18 सितंबर 2004 को 06.09.2004 से 08.09.2004 तक आयोजित कंप्यूटर प्रशिक्षण कोर्स में एक्सलेंट का प्रमाण पत्र भी इन्हें दिया गया। 3. पटना के मेघदूत भवन में तत्कालीन एडिशनल डायरेक्टर जेनरल (पोस्टल) नई दिल्ली श्रीमती अलका झा मिश्रा की उपस्थिति में तात्कालिक डाक निदेशक (बिजनेस डेवलपमेंट) आइपीएस श्री अनिल कुमार के द्वारा 24 जून 2012 को पुरस्कृत किया गया। 4.उजियारपुर विधान सभा क्षेत्र के माननीय विधायक श्री दुर्गा प्रसाद सिंह के द्वारा दिनांक -22-09-2014 को प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया गया। 5. डा० अशोक कुमार , माननीय विधायक रोसड़ा सह सभापति प्रत्यायुक्त विधान समिति, बिहार विधानसभा के द्वारा दिनांक 23.11.2016 को प्रशस्ति पत्र से अलंकृत किया गया। 6. डॉ० दिलीप कुमार चौधरी माननीय एम०एल०सी० ( स्नातक क्षेत्र,दरभंगा ) सह सचेतक (सत्तारूढ़ दल) विधान परिषद ,बिहार के द्वारा दिनांक 04.10.2016 को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। 7. श्री हरि नारायण चौधरी, माननीय एमएलसी,बिहार विधान परिषद के द्वारा दिनांक 21.02.2017 को इनके उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। 8. श्री आलोक कुमार मेहता, माननीय मंत्री सहकारिता विभाग, बिहार, पटना के द्वारा दिनांक 23.03.2017 को प्रशस्ति पत्र से नवाजा गया। 9. आकाशवाणी/दूरदर्शन पटना के निदेशक श्री विजय कुमार के द्वारा इनके द्वारा संचालित पोस्टल हेल्प लाइन आॅन मोबाइल सेवा, डाक शिविर कार्यक्रम, भारतीय डाक आपकी सेवा में तथा डाक दर्शन, कार्यक्रमों से संबंधित एक घंटे का लाइव प्रसारण डीडी बिहार पर दिनांक 30.11.2016 को किया गया और इस आशय का प्रमाण पत्र भी प्रदान किया गया। 10. हाजीपुर विधान सभा क्षेत्र के माननीय विधायक श्री अवधेश सिंह जी के द्वारा दिनांक 31-07-2018 को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। 11. माननीय गृह राज्य मंत्री व उजियारपुर लोक सभा क्षेत्र के माननीय सांसद सह बिहार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री नित्यानंद राय जी के द्वारा 01 सितम्बर 2018 को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। 12. समस्तीपुर विधान सभा क्षेत्र के माननीय विधायक सह राजद प्रदेश प्रवक्ता श्री अख्तरुल इस्लाम शाहीन जी के द्वारा 19 सितम्बर 2018 को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। 13. उजियारपुर विधान सभा क्षेत्र के माननीय पूर्व विधायक श्री दुर्गा प्रसाद सिंह जी के द्वारा दिनांक 24 अक्टूबर 2018 को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। 14. विभूतिपुर विधान सभा के माननीय विधायक श्री राम बालक सिंह जी के द्वारा दिनांक -09-05-2019 को प्रशस्ति-पत्र से नवाज़ा गया। 15. वारिसनगर विधान सभा क्षेत्र के माननीय पूर्व विधायक श्री विश्वनाथ पासवान जी के द्वारा 10 -11- 2019 को डाक सेवा के क्षेत्र में किये जा रहे सफल प्रयास हेतु ' प्रशस्ति पत्र ' से नवाज़ा गया है।

15-Nov-2019 07:53

व्यक्तित्व मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology