23-Jan-2019 05:37

समाजसेवी अजय कुमार ने कहा स्वास्थ्य को मौलिक अधिकार का दर्जा मिलना चाहिए

मेरा सपना है कि राष्ट्र कवि दिनकर की धरती पर बिहार का पहला और देश का सबसे ऊंचा आठवां तिरंगा झंडा लहरे

बेगूसराय । बेगूसराय हरहर महादेव चौक स्थित होटल केडीएम हाँल मे जन स्वास्थ्य अधिकार एवम प्रबुद्धजन सम्मेलन सह सम्मान समारोह का आयोजन किया गया । जिसके संयोजक तथा मुख्य वक्ता युवा समाजसेवी व पूर्व अध्यक्ष केन्द्रीय कर्मचारी आवसीय कल्याण समिति व स्वास्थ्य को मौलिक अधिकार बनाने की लड़ाई लड़ रहे अजयकुमार रहे। इस अवसर पर समाजसेवी अजय कुमार ने कहा कि स्वास्थ्य को मौलिक अधिकार का दर्जा मिलना चाहिए । उन्होंने कहा कि देश में अब भी स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है। व्यक्ति का स्वास्थ्य, शिक्षा मकान समेत सभी अन्य बुनियादी सुविधाओं से भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि इंसान का जब स्वास्थ्य रहेगा तभी वह शिक्षा और मकान और अन्य संसाधनों का उपयोग या उपभोग कर पाएगा ।

अजय कुमार ने आगे कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य बहुत ही गंभीर विषय है, क्‍योंकि स्‍वास्‍थ्‍य है तभी आप है, हम है और एक दूसरे का सहयोग है, अगर स्‍वास्‍थ्‍य आपका सही नहीं है तो सब बेकार है और इसका प्रमाण हमलोग आए दिन देखते रहते हैं कि किस तरह किसी के घर का कमाउ पूत या मुखिया बीमार पड़ जाता है, तो उसकी अगली पीढी को दर-दर की ठोकरें खाना पड़ता है। आपको जानकर आश्‍चर्य होगा कि अपने देश में एक हजार की आबादी पर महज एक डॉक्‍टर हैं, तो एक हजार पर 1.‍3 नर्स हैं और तो और सबसे दयनीय स्‍थिति बेड की है प्रति एक हजार पर 1.‍1 बेड उपलब्‍ध हैं । इन्‍हीं सब बिन्‍दुओं को देखते हुए मुझे लगा कि देश में सबको स्‍वास्‍थ्‍य की सेवाएं आसानी से उपलब्‍ध होनी चाहिए।

इसके लिए स्‍वास्‍थ्‍य को भी शिक्षा की तरह मौलिक अधिकार का दर्जा मिलना चाहिए, इसके लिए मैंने अभियान चलाया देश के 60 से अधिक सांसदों ने भी इसका समर्थन करते हुए बकायदा खत लिखे हैं । इतना ही नहीं केंद्र की संवेदनशील सरकार ने मानसिक स्वास्थ्य को मौलिक अधिकार का दर्जा भी दे दिया है, लेकिन यह लड़ाई यहीं नहीं रूकेगी यह लगातार चलती रहेगी जब तक कि जन स्वास्थ्य को मौलिक अधिकार का दर्जा न मिल जाए। उन्होंने कहा कि मेरा सपना है कि राष्ट्र कवि दिनकर की धरती पर बिहार का पहला और देश का सबसे ऊंचा आठवां तिरंगा झंडा लहरे, जिसके लिए मैं जिलाधिकारी से बात किए हैं, स्वीकृति जिलाधिकारी से मिलते ही जीरोमाइल स्थित दिनकर गौलम्बर पर यह झंडा लगेगा । इस आयोजन की अध्यक्षता प्रियम रंजन सिंह एवम मंच संचालन राजीव कुमार ने किया । इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ भगवान प्रसाद सिंह, दीनानाथ सुमित्र, सीताराम सिंह, श्याम चरण मिश्र, डॉ गौतम ने दीप प्रज्वलित कर किया । इस मौके पर डॉ भगवान सिन्हा ने कहा कि जिस अधिकार की लड़ाई हमें 70 साल पहले गांव से होना चाहिए था आज वह महलों से उठ रही है । उन्होंने कहाकि जनता के सामने स्वस्थ्य की चुनौती सबसे बड़ी चुनौती है ।

उन्होंने अजय कुमार को इसके लिए बधाई देते हुए कहाकि स्वास्थ्य को मौलिक अधिकार का दर्जा दिलाने के लिए जन जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए । उन्होंने कहाकि स्वस्थ्य को मौलिक अधिकार की लड़ाई लड़ने के लिए अजय कुमार बधाई के पात्र हैं । जीडी कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ रामकुमार सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य को मौलिक अधिकार बनने से आम जनमानस को बहुत लाभ होगा । इस अवसर पर रत्नाकर सिंह, रत्नेश कुमार, अनिल भंडारी, डी डी न्युज के वरिष्ठ पत्रकार धीरज कुमार, भाजपा मीडिया प्रभारी शुभम कुमार, ब्रजेश कुमार, मृत्युंजय कुमार बीरेश चंचल कुमार सिंह अभाविप के प्रदेश कार्यकारणी सदस्य गौरव कुमार, नमक सत्याग्रह गौरव समिति के राजीव सिंह अजीत कुमार सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

23-Jan-2019 05:37

व्यक्तित्व मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology