28-Apr-2018 05:42

बिहार ने एक बार फिर किया धमाका, सिविल सर्विसेज परीक्षा में सबसे प्रबल दावेदारी

हैदराबाद के अनुदीप दुरिशेट्टी ने टॉप तो बिहार के लाल अतुल प्रकाश को चौथा स्थान

डुरीशेट्टी अनुदीप (0156266) ओबीसी श्रेणी में आते हैं। उन्‍होंने वैकल्पिक विषय मानव शास्‍त्र के साथ इस परीक्षा में सफलता हासिल की है। उन्‍होंने बिट्स, पिलानी से इंजीनियरिंग (इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रुमेंटेशन) की डिग्री हासिल की है। एग्जाम में टॉप करने वाले दुरिशेट्टी अनुदीप गूगल में काम कर चुके हैं। बिहार के अतुल प्रकाश ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में चौथा स्थान प्राप्त किया है। इनके पिता अशोक राय समस्तीपुर रेल मंडल में पूर्व में सीनियर डीइइन को-ऑर्डिनेशन के पद पर कार्यरत थे। वे आरा के रहने वाले हैं और अभी हाजीपुर में चीफ इंजीनियर हैं। बिहार के सहरसा के सागर कुमार झा को सिविल सेवा परीक्षा में 13वीं रैंक मिली है

सिविल सर्विसेज 2017 का रिजल्ट जारी हो गया है। हैदराबाद के अनुदीप दुरिशेट्टी ने टॉप किया है। जबकि दूसरे नंबर पर अनु कुमारी और तीसरे नंबर पर सचिन गुप्ता का नाम है।

भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए 180 उम्मीदवारों का चयन हुआ है। भारतीय विदेश सेवा के लिए 42, आईपीएस के लिए 150, केंद्रीय सेवा ग्रुप (क) 565, ग्रुप (ख) सेवाओं के लिए 121 उम्मीदवार पास हुए हैं। बता दें कि यूपीएससी मुख्य परीक्षा 28 अक्टूबर, 2017 को आयोजित की गई थी। यह परीक्षा भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय विदेश सेवा (IFS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS) और केंद्रीय सेवा (समूह ए और समूह बी) और विभिन्न अन्य सरकारी विभागों में भारतीय नागरिकों के 990 पदों की भर्ती के लिए आयोजित की गई थी। 980 पदों में से 54 पद आरक्षित श्रेणियों के लिए हैं। आईएएस प्री (सीएसएटी) परीक्षा 18 जून 2017 को आयोजित की गई थी।

मेरिट लिस्ट में कुल 990 लोगों का नाम है। इसमें 476 कैंडिडेट जनरल कैटेगिरी के हैं, 275 कैंडिडेट ओबीसी, 165 कैंडिडेट एससी और 74 कैंडिडेट एसटी कैटेगिरी के हैं।

28-Apr-2018 05:42

शिक्षा मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology