CIN : U22300BR2018PTC037551
Reg No.: 847/PTGPO/2015(BIHAR)

94714-39247 / 79037-16860
14-Nov-2019 09:57

देश मे 16 लाख से अधिक विद्यालय,01 करोड़ शिक्षक एवं 33 करोड़ से अधिक विद्यार्थी है

गुजरात में हुये अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ क भव्य 07 वें राष्ट्रीय अधिवेशन में बिहार सहित वैशाली जिला के शिक्षकों ने अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराई।इस 7वें राष्ट्रीय अधिवेशन में पूरे बिहार से 30 से अधिक शिक्षक शामिल हुये इसमें वैशाली जिला के सात शिक्षक शामिल थे।

देशभर के 27 राज्यों से आये 4000 शिक्षक प्रतिनिधियों से राज्यवार शिक्षक समस्याओं पर चर्चा की गई

अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ का भव्य सातवां राष्ट्रीय अधिवेशन गुजरात राज्य के महेसाणा जिला स्थित गणपत विश्वविद्यालय खैरवा में हुआ।जिसका समापन दस नवम्बर को हो गया।जिला सचिव धीरज कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय अधिवेशन में शिक्षा से जुड़े विषयों के साथ समाज एवं देश से जुड़े विभिन्न मुद्दों के अन्तर्गत नारी : भारतीय दृष्टि और भविष्य, पर्यावरण दृष्टि और व्यवहार, भविष्य के भारत की शिक्षा एवं राष्ट्र की अवधारणा विषय पर व्यापक चर्चा की गई।श्री कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री महेन्द्र कपूरने संगठनात्मक कार्ययोजना के बारे में विस्तृत जानकारी दी।कार्यक्रम को राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो०जे०पी०सिंघल, राष्ट्रीय महामंत्री शिवानंद सिन्दकेरा,राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी विजय कुमार सिंह आदि ने संबोधित किया।

साथ ही देशभर के 27 राज्यों से आये 4000 शिक्षक प्रतिनिधियों से राज्यवार शिक्षक समस्याओं पर चर्चा की गई। राष्ट्रीय अधिवेशन में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ बिहार के प्रतिनिधि के रूप में बिहार के प्रदेश अध्यक्ष रजनीश कुमार,पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कृष्णकांत झा,प्रदेश मीडिया प्रभारी ज्ञानेंद्र नाथ सिंह के साथ वैशाली जिला से जिला सचिव धीरज कुमार,जिला कोषाध्यक्ष मृत्युंजय सिंह मुन्ना,जिला मंत्री दिलीप कुमार पासवान,जिला संयुक्त सचिव रूपेश कुमार,जिला उपाध्यक्ष कुमार गौतम एवं धनंजय मिश्रा शामिल हुये।

साथ ही गोपालगंज,समस्तीपुर,सीतामढ़ी,बेगूसराय,दरभंगा जिला के साथ वैशाली जिला के प्राथमिक,माध्यमिक शिक्षक, कॉलेज के प्राध्यापकों के साथ सभी जिले के जिलाध्यक्ष शामिल हुये।इस राष्ट्रीय अधिवेशन का उद्घाटन गुजरात के मुख्यमंत्री विजय भाई रूपानी ने किया।साथ ही समापन कार्यक्रम में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक उपस्थित हुय।केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने राष्ट्रीय अधिवेशन में देश की नई शिक्षा नीति पर बात करते हुये कहा कि यह नई शिक्षा नीति नए भारत के निर्माण की नींव रखेगी।उन्होंने कहा कि इस देश मे 16 लाख से अधिक विद्यालय,01 करोड़ शिक्षक एवं 33 करोड़ से अधिक विद्यार्थी है।श्री नशंक ने कहा कि नए भारत के निर्माण के लिए सशक्त भारत,स्वच्छ भारत एवं समृद्ध भारत से ही एक श्रेष्ठ भारत के धय्ये के साथ आगे बढ़ना होगा।राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ बिहार के प्रदेश अध्यक्ष रजनीश कुमार ने यह जानकारी देते हुय बताया कि इस राष्ट्रीय अधिवेश में शिक्षा एवं ज्ञान के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य के लिये तीन लोगों निवेदिता रघुनाथ भिड़े,प्रो० रविन्द्र अम्बादास मुले एवं प्रो० गिविंद प्रसाद वर्मा को महासंघ द्वारा शिक्षा भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया।इन लोगों को गुजरात क माननीय शिक्षा मंत्री भुपेन्द्र सिंह चुडासमा ने महासंघ की ओर से प्रशस्ति पत्र,स्मृति चिन्ह एवं एक लाख रुपये का चेक देकर सम्मानित किया।

14-Nov-2019 09:57

शिक्षा मुख्य खबरें

Copy Right 2019-2024 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology