12-Dec-2019 11:29

शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने में नवाचार की भूमिका प्रेरणादायी जिलाधिकारी

शिक्षा में शून्य निवेश नवाचार पर आधारित लगायी गयी प्रदर्शनी

कौशाम्बी। जनपद के परिषदीय विद्यालयों में शून्य निवेश आधारित गतिविधि शिक्षण पद्यति एवं इनोवेटिव कार्य के तहत अरविन्दो सोसायटी एवं बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से बृहस्पतिवार को शिक्षक सम्मान व शून्य निवेश नवाचार आधारित प्रदर्शनी का आयोजन कलेक्ट्रेट स्थित डायट मैदान किया गया। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए जनपद के विभिन्न विद्यालयों की ओर से शून्य निवेश नवाचार पर आधारित लगायी गयी प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए विभिन्न स्टॉलों पर नवाचार के माध्यम से बनायी गयी प्रेरणादायी चीजों के लिए संबंधित विद्यालयों के अध्यापकों की प्रशंसा की स्टॉलों पर बच्चां को अच्छे एवं सरल विधि से ज्ञान देने के लिए नई नई विधियों का प्रदर्शन किया गया।

इस अवसर पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने में नवाचार की भूमिका प्रेरणादायी के रूप में सहायक सिद्ध हो सकती है। जिलाधिकारी ने कहा कि विद्यालयों में आवश्यक सुविधायें एवं विद्यालय के सौन्दर्यीकरण का कार्य प्राथमिकता पर कराया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार के द्वारा बच्चों को निःशुल्क भोजनए पाठ्य पुस्तकें बैग जूता मोजा एवं स्वेटर भी उपलब्ध कराया जा चुका है परन्तु शिक्षा की गुणवत्ता को कैसे और बढ़ाया जाये इसके बारे में शिक्षकों को ही आगे बढ़कर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि विद्यालय एवं अध्यापक की पहचान शिक्षा की गुणवत्ता से ही होती है।

उन्होंने प्रदर्शनी में आये हुए अध्यापकों से कहा कि जनपद के अन्य विद्यालयों में भी नवाचार के माध्यम से शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए नई विधियों का प्रचार.प्रसार करें जिससे कि अन्य विद्यालयों के बच्चे भी नई नई तकनीक के माध्यम से आसान विधि से विषयों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें। उन्होंने कहा कि बच्चों के भविष्य निर्माण में अध्यापकों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। कहा कि अच्छे अध्यापक की पहचान उनके पठन पाठन से ही होती है बच्चे ऐसे अध्यापकों को हमेशा अपने जीवन भर याद रखते है।

इस अवसर पर अरविन्दो सोसायटी के स्टेट को.आर्डिनेटर भूपेन्द्र सिंह एवं जनपद के समन्वयक रामकृष्ण मिश्र ने आयोजित प्रदर्शनी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में जिला बेसिक शिक्षाधिकारी स्वराज भूषण त्रिपाठी ने जनपद के विद्यालयों में नवाचार बारे में किये जा रहे प्रयास एवं उसके माध्यम से पठन पाठन की गुणवत्ता में लाये जा रहे सुधार के बारे में जानकारी दी। उन्होने कहा कि जिलाधिकारी महोदय के द्वारा इस विषय पर जो भी निर्देश दिये गये है उसका अक्षरसः पालन करते हुए शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने हेतु निरन्तर प्रयास होता रहेगा। इस अवसर पर जनपद के विभिन्न विद्यालायों के अध्यापकगणों के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी एंव कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

12-Dec-2019 11:29

शिक्षा मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology