04-Apr-2018 05:38

गया मगध आयुक्त ने की 11 मामलों में सुनवाई की।

आयुक्त महोदय ने कहा कि जब छात्रा १२वीं में प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण है

गया के श्री जितेंद्र श्रीवास्तव, आयुक्त, मगध प्रमंडल द्वारा लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम २०१५ के तहत कुल ११ वादों में सुनवाई की गई। जिनमे १० अपील के एवं एक अनुपालन के मामलें शामिल थे। खिजरसराय के सत्यम ईंट भट्ठा मामले की सुनवाई करते हुए , जिलाधिकारी ने अनुमंडल पदाधिकारी नीमचक बथानी को पुनःआवेदक की उपस्थिति में मामले की जांच कर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया,उन्होंने कहा कि ईंट भट्ठा द्वारा विगत २ साल से ६ साल से सरकारी भूमि का उपयोग किया जा रहा था ।यह स्पष्ट प्रतिवेदन दिया जाए और यदि सरकारी जमीन का उपयोग २ साल से किया जा रहा था । तो व्यवसायिक लगान संबंधित मालिक से वसूली किया जाए। जिला खनन पदाधिकारी ने बताया कि २०१६ में ईट भट्ठा गणेश सिंह के नाम से तथा २०१७से दिनेश सिंह के नाम से चल रहा है। आयुक्त महोदय द्वारा बिलंब से प्राथमिकी दर्ज कराने पर भी नाराजगी व्यक्त की गयी, सोनम कुमारी के मामले में जिला कल्याणपदाधिकारी, गया से स्पष्ट आदेश के बावजूद छात्रा को प्रोत्साहन राशि उपलब्ध नहीं कराने पर स्पष्टीकरण किया गया है। आयुक्त महोदय ने कहा कि जब छात्रा १२वीं में प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण है । तो फिर उसे मेधावृति योजना के तहत प्रोत्साहन राशि क्यों नहीं उपलब्ध कराई जा रही हैउन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि अगली तारीख तक जिलाकल्याण पदाधिकारी द्वारा मामले का निराकरण नहीं किया जाता है तो अर्थदंड की कार्रवाई की जाएगी,अपीलार्थी कुंती देवी के मामले में अंचलाधिकारी डोभी के प्रतिवेदन पर भी आयुक्त महोदय द्वारा नाराजगी व्यक्त की उन्होंने कहा कि जब सरकारी जमीन पर निजी व्यक्तियों के द्वारा दखल कब्जा कर उसका उपयोग किया जा रहा है तो सभी कब्जादारों परकार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है उन्होंने संबंधित राजस्व कर्मचारी पर विभागीय कार्रवाई करने की अनुशंसा करते हुए अंचलाधिकारी से भी जवाब तलब किया कि जब ६ माह पूर्व अतिक्रमण की जानकारी प्राप्त हो गई थी तो अब तक कार्रवाई क्यों नहीं की गई,सक्षम के द्वारा जिले में चलवाए जा रहे वृद्धाश्रम के लिए अपना आवेदन दे रखा हैअपीलार्थी ने कहा कि इतने बड़े जिले में एक वृद्ध आश्रम से काम नहीं चलता है दो-तीन भी चलाए जा सकते हैंसहायक निदेशक,सामाजिक सुरक्षा कोषांग श्रीमती नेहा नूपुर ने कहा कि एजेंसी का चयन मुख्यालय द्वारा किया जाता है और इसके लिए विज्ञापन निकाली जाती हैअपीलार्थी शिवनंदन मालाकार की शिकायत के जवाब में कार्यपालक विद्युतअभियंता, विद्युतआपूर्ति प्रमंडल,नवादा ने बताया कि १९८७ से अपीलार्थी द्वारा विद्युत विपत्र जमा नहीं कराया गया है इस तरह से २,७६,०००रूपय का बकाया विद्युत बिल के विरुद्ध नीलाम पत्र बाद भी अपीलार्थी के विरुद्ध चलाया जा रहा है,आयुक्त महोदय ने आदेश देते हुए कहा कि १९९४से २०१७ तक का इनके बकाया विद्युत विपत्र का कैलकुलेशन शीट उपलब्ध कराया जाए,किस आधार पर २७३००का विद्युत विपत्र भुगतान हेतु उपलब्ध कराया गया हैअपीलार्थी बलिराम पासवान के मामले में डीडीएम नाबार्ड एवं एलडीएम गया को सुनवाई की अगली तारीख हर हाल में मामले का निराकरण कराने का निर्देश दिया गया।

04-Apr-2018 05:38

समाचार मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology