06-Aug-2019 01:22

अनुमति सिंह बनीं रूबरू मिसेज इंडिया 2019 की मिसेज फोटोजैनिक

एक आम नारी की तरह जीवन गुजर बसर कर सकती थी लेकिन वह डांसिंग की दुनिया में अपनी पहचान बनाना चाहती थी

डांस के क्षेत्र में कामयाबी का परचम लहराने के बाद अनुमति सिंह ने अब फैशन और मॉडलिंग की दुनिया में भी अपना जलवा बिखेर दिया है। अनुमति सिंह ने हाल ही में दिल्ली में आयोजित रूबरू मिसेज इंडिया 2019 प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और मिसेज फोटोजेनिक और मिसेज टैलेंटड का खिताब अपने नाम कर लिया।

उड़ीसा में जन्मीं अनुमति सिंह के पिता श्री रवीन्द्र नाथ दास रेलवे में कार्यरत थे जबकि उनकी मां श्रीमती गोलापी देवी दास गृहणी हैं। दो भाई और दो बहनों में सबसे छोटी अनुमति को उनके घर वालों ने अपनी राह खुद चुनने की आजादी दे रखी थी। बॉलीवुड की धकधक गर्ल माधुरी दीक्षित के डांस से प्रभावित होने की वजह से अनुमति सिंह उनकी तरह ही डांस के क्षेत्र में नाम रौशन करना चाहती थी। अनुमति स्कूल में होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम में डांस परफार्म किया करती और जिसके लिये उन्हें काफी सराहना मिला करती थी।अनुमति सिंह ने अपनी प्रारिंभिक शिक्षा उड़ीसा से पूरी की।

इस बीच उनकी शादी बिजनेस मैन श्री अभय प्रताप सिंह से हो गयी।अनमति सिंह यदि चाहती तो विवाह के बंधन में बनने के बाद एक आम नारी की तरह जीवन गुजर बसर कर सकती थी लेकिन वह डांसिंग की दुनिया में अपनी पहचान बनाना चाहती थी। अनुमति सिंह ने डांस के क्षेत्र में अपना करियर बनाने का निश्चय किया। उन्होने कई कार्यक्रमों में परफार्म किया जिसके लिये उन्हें काफी सराहना मिली। अनुमति सिंह फैशन की दुनिया में भी पहचान बनाना चाहती थी। इसी दौरान सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के जरिये उन्हें पता चला कि राजधानी पटनामें रूबरू मिसेज इंडिया का आयोजन किया जा रहा है। रूबरू और आईग्लैम की ओर से आयोजित ऑडिशन में उन्होंने हिस्सा लिया और मिसेज बिहार सेकेंड रनर अप खिताब से नवाजी गयी। इसके बाद उन्होंने दिल्ली में हुये मिसेज रूबरू इंडिया के फिनाले में बिहार का प्रतिनिधित्व किया और सेकेड रनर अप मिसेज फोटोजेनिक और मिसेज टैलेंटड का खिताब अपने नाम कर लिया।श्रीमती अनुमति सिंह कहा कि मैं आईग्लैम की निदेशक और रूबरू इस्ट इंडिया की निदेशक देवाजानी मित्रा का तहे दिल से शुक्रिया अदा करना चाहती हूँ जिन्होंने इतने बड़े स्तर का शो आयोजन किया। अनुमति सिंह ने बताया कि वह अपनी कामयाबी का पूरा श्रेय अपने पति के साथ ही परिवार के सभी सदस्यों को देती हैं जिन्होंने उन्हें हमेशा सपोर्ट किया है।

अनुमति सिंह का मानना है कि महिला अब किसी क्षेंत्र में पीछे नही हैं।अब जरूरत है महिलाओं को सशक्त बनाने की ,अब हर किसी को जगना होगा, और सबको जगाना होगा बहुत खो लिया नारी ने, अब उसे उसका हक दिलाना होगा स्त्रियों को खुद इसकी शुरुआत करनी होगी स्त्रियों को खुद, स्वयं को आगे बढ़ाना होगा उम्मीद है जल्द हीं हालात बदलेंगे उम्मीद है अब वक्त करवट लेगा और नहीं रहेगी किसी स्त्री के चेहरे पर शिकन।

06-Aug-2019 01:22

सम्मान मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology