07 दिसम्बर आर एन काॅलैज हाजीपुर में एनसीसी पलाटून की स्वीकृति |




07 दिसम्बर आर एन काॅलैज हाजीपुर में एनसीसी पलाटून की स्वीकृति 32 बिहार बटालियन एन सी सी मुजफ्फरपुर के द्वारा कर दी गई है। जमुनी लाल महाविद्यालय हाजीपुर से एनसीसी को हटाने का निर्णय ले लिया गया है। 12 दिसम्बर को सीनियर डिविजन और सीनियर विंग में 60 कैडेट को चयनित किया जाएगा जिसमें 33 प्रतिशत सीट लडकियों के लिए आरक्षित होगी। आर एन काॅलैज हाजीपुर के मैदान में 12 दिसम्बर को सुबह 0800 बजे से भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी और शाम 4 बजे तक पूरा कर लिया जाएगा। शारीरिक नाप तौल, चिकित्सा जांच, दौड़, बीम, सीट अप एवं और लिखित परीक्षा के आधार पर योग्य कैडेटों का चयन किया जाएगा। चयन प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी होगी।




किसी भी तरह के बहकावे में न आएं। 50 प्रतिशत सीट आर एन काॅलैज हाजीपुर में नामांकित छात्रों से भरी जाएगी और 50 प्रतिशत सीट वैशाली जिले के अन्य सभी महाविद्यालयों के छात्रों से भरी जाएगी। इसका अर्थ ये हुआ कि पूरे वैशाली जिले के छात्र जो सीनियर डिविजन और सीनियर विंग में आना चाहते हैं, अपने दस्तावेज के साथ चयन प्रक्रिया में ज्यादा से ज्यादा संख्या में भाग ले सकते हैं। चयन प्रक्रिया पूरी तरह से निशुल्क है। अगर कोई आपको बहकावे में लाने की कोशिश करता है इसकी सूचना मुजफ्फरपुर स्थित कार्यालय में दी जा सकती है।



ज्ञात हो कि जमुनी लाल महाविद्यालय हाजीपुर से एनसीसी को अनियमितता की वजह से ही हटाया गया। वहां के पहले से नामांकित कैडेटों को अगले साल की परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी ताकि उनका कोई नुकसान नहीं हो। सहायक प्रोफेसर पवन कुमार, आर एन काॅलैज हाजीपुर एनसीसी केयर टेकर ऑफिसर की ड्यूटी करेंगे और उन्हे सूचना दे दी गई है।






भर्ती प्रक्रिया लेफ्टिनेंट कर्नल मनमोहन ठाकुर, प्रशासनिक अधिकारी 32 बिहार बटालियन एन सी सी मुजफ्फरपुर के नेतृत्व में पूरी की जाएगी। एनसीसी निदेशालय बिहार और झारखंड के अपर महानिदेशक मेजर जेनरल एम इन्द्रबालन के निर्देशानुसार गाँव गाँव तक एनसीसी का पद चिन्हों को बढाने की प्रकिया चल रही है। अगर जिले के हर इलाके में एनसीसी का क्रियाकलाप दिखेगा समाज में जल्दी बदलाव आना शुरू होगा। एकता और अनुशासन का पाठ एनसीसी के माध्यम से जन जन तक पहुँचाने में मदद मिलेगी।






ए, बी और सी सर्टीफिकेट परीक्षा पास करने के बाद सेना में भर्ती के दौरान विशेष छुट मिलती है। साथ ही अर्ध सैनिक बलों में भर्ती के लिए भी छुट मिलती है। नई शिक्षा नीति में एनसीसी की भूमिका और महत्वपूर्ण साबित होने वाली है।

संपर्क

संपर्क करें